किसान आंदोलन में शामिल लोगों ने ग्रामीण पर तेल छिड़क कर जिंदा जलाया, परिवार का रो-रो कर बुरा हाल- सरकार से लगाई मदद की गुहार

किसान आंदोलन में शामिल लोगों ने ग्रामीण पर तेल छिड़क कर जिंदा जलाया, परिवार का रो-रो कर बुरा हाल- सरकार से लगाई मदद की गुहार

बहादुरगढ़: हरियाणा के झज्जर के बहादुरगढ़ में आपसी झगड़े में आरोपियों ने ग्रामीण पर तेल छिड़क कर आग लगा दी। मरने वाले शख्स की पहचान कसार गांव निवासी मुकेश के रूप में हुई। मीडिया खबरों के अनुसार, मुकेश ने किसान आंदोलन में शामिल 4 लोगों के साथ आंदोलन स्थल पर ही शराब पी। बाद में हुए झगड़े में आरोपियों ने मुकेश पर तेल छिड़क कर आग लगा दी।

परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है और उन्होंने शव लेने से मना कर दिया है। उनका कहना था कि पीड़ित परिवार को मुआवजा और सरकारी नौकरी और सुरक्षा की सरकार गारंटी दे। आंदोलनकारी किसानों को भी गांव से दूर बसाने की मांग की गई।

घटनास्थल पर आरोपी का एक वीडियो भी सामने आया है। आंदोलन में शहीद होने का नाम देकर कसार निवासी मुकेश पर तेल छिड़का गया और फिर आग लगाई गई। इससे पहले उसे शराब भी पिलाई गई। मृतक के भाई के बयान पर पुलिस ने मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। हत्या के आरोपी अभी फरार हैं। पुलिस का दावा है कि आरोपी को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

The people involved in the farmers’ movement burnt alive by sprinkling oil on the villager, crying out for the family’s bad condition – appealed to the government for help