असीम अवसरों के सुनहरे दरवाजे को खोलने और उत्कृष्टता तक पहुँचने की कुँजी HMV कॉलेजिएट सीनियर सेकेंडरी स्कूल

असीम अवसरों के सुनहरे दरवाजे को खोलने और उत्कृष्टता तक पहुँचने की कुँजी HMV कॉलेजिएट सीनियर सेकेंडरी स्कूल

जालंधर (अमन बग्गा): जालन्धर व नार्थ इंडिया के विद्यार्थियों की पहली पसंद है यह विद्यालय जो कि पदमश्री डॉ. पूनम सूरी, प्रधान डी.ए.वी. कॉलेज प्रबंधकत्र्री समिति के दिशा-निर्देशन व शुभआशीष से एवम् प्रो. डॉ. (श्रीमती) अजय सरीन के नेतृत्व में निरन्तर ऊंचाइयों को छू रहा है। इस संस्था में बच्चों के समग्र विकास को प्रमुख रखते हुए गतिविधियां करवाई जाती हैं। ग्याहरवीं व बारहवीं का परीक्षा परिणाम शत-प्रतिशत होने के साथ-साथ विद्यार्थी 99 प्रतिशत तक अंक प्राप्त कर पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड में प्रथम दस स्थानों पर अपना नाम अंकित करवा रहे हैं। इस वर्ष ग्याहरवीं में 45 विद्यार्थी 90 प्रतिशत से अधिक अंक लाने में कामयाब रहे। 2019-20 सैशन में 47 विद्यार्थी 90 प्रतिशत से अधिक, 38 विद्यार्थी 85-90 प्रतिशत, 32 विद्यार्थी 80-85 प्रतिशत अंक लेकर पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड की बारहवीं की परीक्षा में अपना मुकाम हासिल कर सके।

ऑनलाइन पढ़ाई कॉलेजिएट स्कूल के अपने ई-लर्निंग मॉड्यूल से भारत के अलग-अलग कोनों में बैठे लाभार्थियों के लिए लाभप्रद सिद्ध हो रही है। ग्रीष्मकालीन अवकाश में भी फिनिशिंग स्कूल के अन्तर्गत सक्षम प्रोग्राम करवाया गया, जिसमें पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश व उत्तर प्रदेश से लड़कियों ने डांस, म्यूजिक, कुकिंग, स्पीकिंग स्किलज में महारत हासिल की। प्राचार्या प्रो. डॉ. (श्रीमती) अजय सरीन ने बताया कि नई शिक्षा नीति-2020 के अन्तर्गत हम बच्चों की क्रिएटिविटी और इनोवेशन, क्रिटिकल थिंकिंग एवम् विश्लेषण जैसी मूल दक्षताएं का ध्यान रखते हुए प्रतियोगिताएं करवाते हैं। इसी के अन्तर्गत हमारे स्कूल की बेटियां चिल्डर्न साइंस कांग्रेस में भारत में दूसरे स्थान पर रहीं।

सृजन मैगजीन का पहला अंक निकाला गया जिसमें स्वरचित कविताएँ हैं। रचनात्मकता और स्वच्छता का जीवन्त उदाहरण है – स्कूल का ईको-पार्क जिसे म्यूनिसिपल कारर्पोरेशन ने भी खूब सराहा है। कॉलेजिएट स्कूल कोआर्डिनेटर श्रीमती मीनाक्षी स्याल ने बताया कि स्कूल में स्थापित इनोवेशन हब में बच्चों को साइंस एवं गणित के कांसेप्ट अनुभावात्मक शिक्षा द्वारा सिखाए जाते हैं। स्काउटस एंड गाइड की मान्यता प्राप्त संस्था बच्चों के भविष्य के लिए मील पत्थर साबित हो रही है क्योंकि इसके अन्तर्गत इंडियन आर्मी और एयरफोर्स में स्पैशल कोटा प्रदान किया जाता है।

स्कूल की हैडगर्ल रह चुकी धृति एवम् अन्य विद्यार्थी विदेशों की विभिन्न उच्च यूनिवर्सिटी में पढ़ाई कर रही हैं। इस वर्ष की हैड गर्ल सृष्टि जो कि हॉस्टल में रह रही थी, ने बताया कि आट्र्स में शिक्षा प्रदान करते हुए वह इन्टर स्कूल प्रतियोगिताएं जीत अपने नाम करने में सफल रही। ऑनलाइन व कैम्पस में आकर विद्यार्थी अपनी एडमिशन करवा सकते हैं। ग्याहरवीं व बारहवीं में कलासेज शुरू हो चुकी हैं। कॉलेजिएट स्कूल युवतियों को वल्र्ड क्लास शिक्षा प्रदान कर उनके उज्ज्वल भविष्य के लिए वचनबद्द है।

The Key to Opening the Golden Door of Opportunities and Reaching Excellence HMV Collegiate Senior Secondary School