HMV ने आर्गेनिक फार्मिग पर आयोजित किया नैशनल वेबिनार

HMV ने आर्गेनिक फार्मिग पर आयोजित किया नैशनल वेबिनार

जालंधर : प्राचार्या प्रो. डॉ. (श्रीमती) अजय सरीन के दिशानिर्देशानुसार, हंसराज महिला महा विद्यालय के पीजी बॉटनी विभाग द्वारा इंडस्ट्री अकादमिक इंटरफेस के अन्तर्गत आर्गेनिक फार्मिग पर नैशनल वेबिनार का आयोजन किया गया। बतौर रिसोर्स पर्सन खेती विरासत मिशन के डायरैक्टर श्री उमेन्द्र दत्ता उपस्थित थे। विभागाध्यक्षा डॉ. अंजना भाटिया ने उनका स्वागत किया।

श्री उमेन्द्र दत्ता ने कैमिकल मुक्त फार्मिग की ओर मुडऩे के लिए प्रेरति किया। उन्होंने कहा कि आर्गेनिक फार्मिग बायोडायवरसिटी, बायोलाजिकल साइकल तथा मिट्टी की बायोलाजिकल गतिविधि को बढ़ावा देती है। उन्होंने आगे कहा कि पंजाब में पानी तथा सेहत को बचाने के लिए पारम्परिक कैमिकल खेती से आर्गेनिक खेती की तरफ आना समय की मांग है। छात्राओं ने कुछ आर्गेनिक किसानों के साथ इंटरएक्षन भी की। लोकल आर्गेनिक फार्मिग एक्टविस्ट श्रीमती वंदना बाली ने भी छात्राओं के साथ विचार सांझे किए तथा उन्हें रूफ – टॉप किचन साईन बनाने के लिए प्रेरित किया।

प्राचार्या डॉ. अजय सरीन ने भी छात्राओं को बदलाव का हिस्सा बनने के लिए प्रेरित किया। श्रीमती मीनाक्षी स्याल को-आरडीनेटरकम्यूनिटी कॉलेज ने छात्राओं को बताया कि डिप्लोमा इन आर्गेनिक फार्मिग के उपरान्त वे बी.वाक (एग्रीकल्चर) द्वितीय में दाखिला ले सकते है। आर्गेनिक फार्मिग डिप्लोमा की इंचार्ज डॉ. नीतिका कपूर ने बताया कि यूजीसी की ओर से कॉलेज में एक वर्षीय डिप्लोमा इन आर्गेनिक फार्मिग करवाया जा रहा है जिसकी योग्यता 10+2 है। इस कोर्स को करने की कोई आयु सीमा नही है। डॉ. नीतिका कपूर ने अंत में सभी का धन्यवाद किया। इस अवसर पर डॉ. श्वेता चौहान, सुश्री हरप्रीत कौर व डॉ. शुचि शर्मा भी उपस्थित थे।