जालंधर प्रशासन ने पेश की इंसानियत की मिसाल, लावारिस कोरोना संक्रमित शव का करवाया अंतिम संस्कार

जालंधर प्रशासन ने पेश की इंसानियत की मिसाल, लावारिस कोरोना संक्रमित शव का करवाया अंतिम संस्कार

जालंधर: पंजाब के जालंधर सिविल अस्पताल के शवगृह में 10 दिनों से रखे हुए कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्ति के शव का आज जिला प्रशासन ने अंतिम संस्कार कर दिया।

उपायुक्त घनश्याम थोरी ने गुरुवार को बताया कि एक कोरोना संक्रमित रोगी को सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जिसकी अगले दिन मृत्यु हो गई। मरीज की पहचान कपूरथला रोड निवासी निर्मल सिंह (50) के रूप में हुई है। उन्होंने बताया कि मरीज की मौत के बाद शव पर दावा करने के लिए कोई आगे नहीं आया और परिचारक का फोन नंबर बंद रहा। शव को लगभग 10 दिनों तक शव गृह में रखा गया और अधिकारियों द्वारा मृतक के परिवार के सदस्यों का पता लगाने के लिए पूरे प्रयास किए गए।

थोरी ने कहा कि मृतक के शव को स्थानीय सिविल अस्पताल में डॉ. कामराज की देखरेख में प्रोटोकॉल के अनुसार स्वास्थ्य अधिकारियों ने अंतिम संस्कार के लिए श्मशान घाट भेजा, जहां एनजीओ ‘आखिरी उम्मीद’ के साथ अधिकारियों ने शव का पूरे सम्मान के साथ अंत्येष्टि कर दी।

Jalandhar administration set an example of humanity, cremated the unclaimed corona infected dead body