HMV कॉलेजिएट स्कूल ने वर्ल्ड एनवायरमेंट डे पर आयोजित की आनलाइन प्रतियोगिताएं

HMV कॉलेजिएट स्कूल ने वर्ल्ड एनवायरमेंट डे पर आयोजित की आनलाइन प्रतियोगिताएं

जालंधर (अमन बग्गा): HMV कॉलेजिएट सीनियर सेकेंडरी स्कूल की ओर से वल्र्ड एनवायरमेंट डे के अवसर पर इको सिस्टम रीस्टोरेशन की थीम पर ऑनलाइन प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। इन प्रतियोगिताओ में जालंधर, कपूरथला, लुधियाना, अमृतसर, तरनतारन तथा जमशेदपुर के विभिन्न स्कलों के 450 से अधिक विद्यार्थियों ने भाग लिया। ट्रैश टू ट्रेजर प्रतियोगिता में स्वामी संत दास पब्लिक स्कूल, जालंधर की कु. मान्यता ने प्रथम, एचएमवी कॉलेजिएट स्कूल की छात्रा कु. सुदीपा ने द्वितीय तथा डीएवी पब्लिक स्कूल पखोवाल लुधियाना की कु. जयंती बांसल ने तृतीय स्थान प्राप्त किया।

स्लोगन लेखन प्रतियोगिता में डीएवी पब्लिक स्कूल पखोवाल की समृद्धि गर्ग ने प्रथम, डीएवी पब्लिक स्कूल पखोवाल के हरसिमर सिंह ने द्वितीय तथा स्वामी संत दास पब्लिक स्कूल, जालंधर की कु. कृतिका ने तृतीय स्थान हासिल किया। वन मिनट वीडियो संदेश प्रतियोगिता में स्वामी संत दास पब्लिक स्कूल, जालंधर की कु. अरशीन कौर ने प्रथम, डीएवी पब्लिक स्कूल पखोवाल रोड की कु. तन्वी ने द्वितीय तथा स्वामी संत दास पब्लिक स्कूल की कु. प्रगति व एचएमवी कॉलेजिएट स्कूल की कु. अदिति को संयुक्त रूप से तृतीय स्थान मिला। पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता में बीएसएफ सीनियर सेकेंडरी स्कूल की सृष्टि नौटियाल ने प्रथम, डीएवी पब्लिक स्कूल बिस्तुपुर, जमशेदपुर के आयुष कुमार ने द्वितीय, स्वामी संत दास पब्लिक स्कूल की मनजोत ने तृतीय पुरस्कार जीता।

एचएमवी कॉलेजिएट स्कूल की महक चोपड़ा तथा गर्वमेंट सीनियर सेकेंडरी स्कूल नेहरू गार्डन की मोसाहिदा को सांत्वना पुरस्कार मिला। इन प्रतियोगिताओं में जज की भूमिका श्रीमती रमा शर्मा, अध्यक्ष मास कम्यूनिकेशन विभाग, फाइन आट्र्स विभाग से श्रीमती गुरदीप, होम साइंस विभाग से श्रीमती दिव्या चड्ढा, हिन्दी विभाग से श्रीमती अनुराधा ठाकुर, कामर्स विभाग से मिस ऋचा बायोलाजी विभाग से मिस पाहुल ने निभाई। पर्यावरण दिवस के संबंध में प्राचार्या डॉ. अजय सरीन और स्कूल कोआर्डिनेटर श्रीमती मीनाक्षी सयाल ने पर्यावरण दिवस के विशेष महत्व को चिह्नित करने के लिए परिसर में विभिन्न औषधीय और सजावटी पौधे लगाए। प्राचार्या डॉ. अजय सरीन ने सभी को पर्यावरण दिवस की बधाई दी और कहा कि हमें अपने पर्यावरण को संरक्षित करना चाहिए और इसके प्रति आभारी होना चाहिए। श्रीमती मीनाक्षी स्याल ने कहा कि इस प्रकार की प्रतियोगिताएं छात्रों को इस बात का एहसास कराती हैं कि मनुष्य में कचरे को खजाने में बदलने की अपार क्षमता हो सकती है। छात्र इस बात को लेकर सतर्क हो जाते हैं कि धरती हमें कुछ भी व्यर्थ नहीं देतीे तो हम धरती मां को बर्बादी में क्यों लौटा रहे हैं। यह चिंतनशील रवैया छात्रों को विकसित और समग्र रूप से विकसित करने के लिए महत्वपूर्ण तत्व है।

HMV Collegiate School organized online competitions on World Environment Day