HMV में हिन्दी दिवस समारोह एवं गुरु विरजानंद को समर्पित वेबिनार का आयोजन

HMV में हिन्दी दिवस समारोह एवं गुरु विरजानंद को समर्पित वेबिनार का आयोजन

जालंधर: हंसराज महिला महाविद्यालय में स्नातकोत्तर हिन्दी विभाग व संस्कृत विभाग द्वारा प्राचार्या प्रो. डॉ. अजय सरीन के मार्गदर्शन में विश्व भाषा अकादमी, भारत की सहभागिता से हिन्दी दिवस एवं युग पुरुष गुरु विरजानंद जी की पुण्यतिथि के उपलक्ष्य में ऑनलाइन हिन्दी लघुकथा गोष्ठी व गुरुवर के व्यक्तित्व व कृतित्व पर एक संभाषण का आयोजन किया गया। प्राचार्या प्रो. डॉ. अजय सरीन ने सभी विशेषज्ञों और देश-विदेश से जुड़े सभी प्रतिभागियों का हार्दिक अभिनंदन किया और विभागाध्यक्ष और उनकी पूरी टीम को आयोजन हेतु बधाई दी। उन्होंने हिन्दी दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आज हिन्दी भाषा चुनौतियों का सामना करते हुए विश्व स्तर पर पल्लवित व पुष्पित हो रही है, जहां अंग्रेजी ‘लोकल’ होने का प्रयास कर रही है, वहीं हिन्दी ‘ग्लोबल’ हो रही है।

 

 

उन्होंने कहा कि हिन्दी हमारी भाषा है, इसे बढ़ाएं, इसे अपनाएं, इसके प्रयोग में गर्व का अनुभव करें। उन्होंने गुरु विरजानन्द जी की पुण्यतिथि पर श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए कहा कि हमें ऐसे महान गुरु के गुणों को अपने भीतर लाने की चेष्टा करनी चाहिए। इस वेबिनार के मुख्यातिथि मुकेश शर्मा (अध्यक्ष विश्व भाषा अकादमी, भारत) रहे। उन्होंने हिन्दी दिवस क्यों मनाया जाता है, इसकी चर्चा करते हुए हिन्दी भाषा के महत्व पर प्रकाश डाला और सभी को अधिकाधिक हिन्दी भाषा को अपनाने के लिए प्रेरित और प्रोत्साहित किया।

 

 

इस वेबिनार में डॉ. ऋषिराज पाठक (श्यामा प्रसाद मुखर्जी कालेज, दिल्ली विश्वविद्यालय) बतौर मुख्य वक्ता रहे। उन्होंने गुरु विरजानंद जी के जीवन पर प्रकाश डालते हुए सामाजिक विकास में उनके योगदान के महत्व को बताया और उनकी शिक्षाओं को ग्रहण करने का संदेश भी दिया। इस वेबिनार में डॉ. अंतरा करवड़े, डॉ. अनघा जोगलेकर, सिमर सदोष, दिव्या शर्मा, डॉ. वसुधा गाडगिल, डॉ. ज्योति गोगिया आदि विभिन्न विद्वानों द्वारा लघु कथाएं प्रस्तुत की गई। लघु कथा गोष्ठी का आयोजन विश्व भाषा अकादमी, भारत की सहभागिता से किया गया है। यह संस्था भारत के अतिरिक्त न्यूजीलैंड व आस्ट्रेलिया में भी सक्रिय है तथा इस संस्था को न्यूजीलैंड में सर्वप्रथम समाचारपत्र ‘अपना भारत’ के संपादन का श्रेय जाता है।

 

 

इस वेबिनार में कालेज के हिन्दी विभाग की छात्राओं द्वारा बनाई गई पीपीटी दिखाई गई। जिसमें सोशल मीडिया के माध्यम से हिन्दी में लिए गए सैंकड़ों हस्ताक्षर भी दिखाए गए। संस्कृत विभागाध्यक्ष डॉ. मीनू तलवाड़ ने सभी विद्वानों का धन्यवाद किया। इस वेबिनार में हिन्दी विभाग के अन्य सदस्य पवन कुमारी और डॉ. दीप्ति धीर भी उपस्थित रहे। वेबिनार का संचालन डॉ. ज्योति गोगिया ने किया।