HMV में हवन यज्ञ का आयोजन

HMV में हवन यज्ञ का आयोजन

जालंधर : हंस राज महिला महाविद्यालय जालंधर में कॉलेज प्राचार्या प्रो. डॉ. (श्रीमती) अजय सरीन जी के मार्गदर्शन अधीन मकर संक्रान्ति के शुभ अवसर पर परम पिता परमात्मा की आराधना हेतु हवन यज्ञ का आयोजन किया गया। इस शुभ अवसर पर सर्वमंगल एवं लोक कल्याण हेतु मन्त्रोच्चारण सहित हवन में आहुतियां डाल परमपिता परमात्मा से सर्वसुख की कामना की गई।

इसी शृंखला में प्राचार्या प्रो. डॉ. (श्रीमती) अजय सरीन जी ने अपने आशीष वचनों में सर्वप्रथम उपस्थित सदस्यों को मकर संक्रान्ति की शुभकामनाएं दी एवं कहा कि हमें सदैव अपनी गलतियों से सीखते हुए आगे बढऩा चाहिए, सफलता प्राप्ति का यही मूलमन्त्र है। उन्होंने सदैव संग्रहित होकर प्रगति पथ पर अग्रसर होने की प्रेरणा दी और कहा कि सदैव अपने जीवन के लक्ष्य प्राप्ति में अग्रसर रहें। उन्होंने ‘सबका साथ सबका विकास’ स्लोगन देकर सब के स्वास्थ्य की शुभकामना की एवं अहम का त्याग कर एकजुट होकर कार्य करने की प्रेरणा दी ताकि हम एक सुंदर इतिहास की सृजना करने में सक्षम बन सकें।

इसी उपलक्ष्य में डीन एकेडेमिक डॉ. कंवलदीप कौर ने प्रेरणादायक विचारों की शृंखला के शुभारंभ में एक लघुकथा के माध्यम से सदैव गतिमान रहने, अच्छा प्रबन्धकत्र्ता बनने एवं सदैव मिलजुलकर कार्य करने हेतु प्रेरित किया। इसी अवसर पर श्री रवि मैनी ने सबको मकर संक्रांति की शुभकामनाएँ दी एवं सब को प्रण लेने को प्रेरित किया कि इस वर्ष अपने नाम के अनुसार अपने व्यक्तित्व को सार्थकता प्रदान करें तभी आपका जीवन सफल व सुफल बनेगा।

मंच संचालन डॉ. अंजना भाटिया द्वारा सफलतापूर्वक किया गया। इस अवसर पर इस वर्ष के प्लैनर का भी विमोचन किया गया। जिस हेतु प्राचार्या जी ने प्लैनर टीम के कोआर्डिनेटर श्री सुशील कुमार, सदस्य डॉ. अंजना भाटिया, डॉ. मीनू तलवाड़, श्री रवि मैनी को बधाई दी। डा. अंजना भाटिया ने प्लैनर में लिखित आर्य रत्न पदमश्री पूनम सूरी (अध्यक्ष डीएवीसीएमसी, नई दिल्ली) के सुविचार – क्रियाशील बनो, उन्नति करो एवं समृद्द बनो तथा राखी सखी श्रीमती मणि सूरी जी का सुविचार-परोपकार ही सुखी जीवन का आधार है तथा प्राचार्या डॉ. अजय सरीन जी का सुविचार- नव वर्ष में नव सृजन के लिए अधिकारों व कत्र्तव्यों में सामंजस्य बनाने का सतत् सार्थक प्रयास करें, को सबके साथ सांझा किया। इस मौके पर संगीत विभागाध्यक्ष डॉ. प्रेम सागर एवं छात्राओं द्वारा भजन प्रस्तुति की गई। समस्त हवन यज्ञ का आयोजन डॉ. संतोष खन्ना व डॉ. मीनू तलवाड़ के संरक्षण में किया गया।