महाराष्ट्र के भंडारा जिला अस्पताल में दर्दनाक हादसा, जिंदा जलने से 10 बच्चों की मौत- CM ने दिए जांच के आदेश

महाराष्ट्र के भंडारा जिला अस्पताल में दर्दनाक हादसा, जिंदा जलने से 10 बच्चों की मौत- CM ने दिए जांच के आदेश

मुंबई: महाराष्ट्र के भंडारा जिला अस्पताल में शुक्रवार देर रात विशेष नवजात देखरेख इकाई में आग लगने से 10 नवजात बच्चों की मौत हो गई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भंडारा जिला अस्पताल में आग लगने की घटना में नवजात बच्चों की मौत पर दु:ख व्यक्त करते हुए मामले की जांच के आदेश दिए हैं।

मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से जारी एक बयान में बताया गया है कि घटना की जानकारी मिलने के तुरंत बाद ठाकरे ने स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे से बातचीत की। मुख्यमंत्री ने जांच के आदेश दिए हैं। उन्होंने जिला कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक से बातचीत करके उन्हें जांच करने के लिए कहा है।

डॉक्टरों ने बताया कि पूर्वी महाराष्ट्र के भंडारा में जिला अस्पताल में शुक्रवार देर रात विशेष नवजात देखरेख इकाई में आग लगने से 10 नवजात बच्चों की मौत हो गई। नवजात बच्चों की उम्र एक महीने से तीन महीने के बीच थी।

पीएम मोदी ने जताया दुख
पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट के जरिए मृतक बच्चों के परिजनों को सांत्वना दी है। पीएम मोदी ने लिखा, महाराष्ट्र के भंडारा में हुई हृदयविदारक घटना में हमने नवजातों का अनमोल जीवन खो दिया। मृतकों के परिजनों को सांत्वना और घायलों के जल्द ठीक होने की कामना करता हूं।

इससे पहले जिला सिविल सर्जन प्रमोद खंडाते ने बताया कि भंडारा जिला अस्पताल में शुक्रवार देर रात एक बजकर 30 मिनट के आसपास आग लग गई। इकाई में 17 बच्चे थे, जिनमें से सात को बचा लिया गया।