HMV कालीजिएट स्कूल में इ-पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता का आयोजन

HMV कालीजिएट स्कूल में इ-पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता का आयोजन

जालंधर (अमन बग्गा): सूचना और संचार प्रौद्योगिकी हमारे दिन-प्रतिदिन के जीवन का एक अभिन्न हिस्सा बन गई है जिसने हमारे जीने के ढंग को बदल कर रख दिया है। लेकिन साइबर स्पेस के इस बढ़ते उपयोग ने साइबर अपराध को बढ़ावा दिया और छात्राओं को इस साइबर अपराध के प्रति सचेत करने हेतु एच.एम.वी. कालीजिएट सीनियर सेकेंडरी स्कूल में प्राचार्या प्रो. डॉ. (श्रीमती) अजय सरीन के योग्य नेतृत्व अधीन छात्राओं को साइबर सुरक्षा के प्रति जागरूक करने हेतु इ-पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता का आनलाइन आयोजन किया गया। प्राचार्या डॉ. सरीन ने कहा कि हमारा लक्ष्य साइबर सुरक्षा के बारे मं जागरूकता बढ़ाना है। साइबर अपराध नए खतरों के साथ विकसित हो रहे है इसलिए पहला कदम साइबर अपराधों के विभिन्न रूपों को पहचानना है जो इस तरह की चीजों से ख्ुाद को बचाने में मदद करेंगे।

इस अवसर पर श्री अनिल भसीन (इंचार्ज, कम्प्यूटर क्लब) ने छात्राओं को साइबर अपराधों के प्रकार जैसे स्पैम, ईमेल हैकिंग, फिशिंग, वायरस को डालने एवं किसी की जानकारी को ऑनलाइन प्राप्त करना इत्यादि के विषय में ज्ञान सांझा करते हुए इन अपराधों से बचने का मूलमंत्र जागरूकता को बताते हुए कहा कि अगर हम इसके प्रति जागरूक होंगे तो न इससे हमें एवं न ही समाज को कोई नुक्सान होगा। साथ ही उन्होंने बैंकिंग फ्राड, एटीएम फ्राड से बचने के भी उपाय बताए। तत्पश्चात श्रीमती मीनाक्षी स्याल (स्कूल कोआर्डिनेटर) ने अपने वक्तव्य में कहा कि हम जितनी तेजी से डिजीटल दुनिया की ओर बढ़ रहे हैं, उतनी ही तेज गति से साइबर अपराधों में वृद्धि हो रही है एवं तकनीकी उन्नति के कारण मनुष्य की इंटरनेट पर निर्भरता भी बढ़ रही है एवं इस वर्चुअल वल्र्ड में भी खुद को सुरक्षित रखने हेतु सावधानी आवश्यक है। अगर हम इसके प्रति जागरूक एवं उचित सावधानियां रखेंगे तो इन अपराधों से बचाव कर सकते हैं।

इस प्रतियोगिता में छात्राओं ने उत्साहपूर्वक प्रतिभागिता करते हुए विभिन्न विषयों जैसे मोबाइल एप्लीकेशन फ्रॉड, कम्प्यूटर हैकिंग एवं फ्रॉड रिलेटेड टू ओटीपी/क्रैडिट कार्ड इत्यादि पर इ-पोस्टर बनाए। निर्णायक की भूमिका श्री आशीष चड्ढा (विभागाध्यक्ष मल्टीमीडिया) ने सफलतापूर्वक निभाते हुए कु. रिया शर्मा (+2 आटर्स) ने प्रथम, कु. इशा अरोड़ा (+2 आटर्स) ने द्वितीय एवं कु. साक्षी (+2 आटर्स) ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। श्री आशीष चड्ढा ने छात्राओं को साइबर अपराध से सुरक्षित रखने हेतु छात्राओं को ज्ञानवर्धक जानकारी दी जैसे एंटी वायरस का प्रयोग करें, पासवर्ड सुरक्षित रखें एवं संदेहजनक ई-मेल को स्पैम में डाल दें इत्यादि। अंत में श्रीमती मीनाक्षी स्याल ने धन्यवाद ज्ञापन ज्ञापित करते हुए समस्त सदस्यों के प्रति आभार व्यक्त किया एवं पुरस्कृत छात्राओं को बधाई देते हुए शुभकामनाएं दी।