CBSE ने 10वीं और 12वीं के प्रश्न पत्र के पैटर्न में किया बदलाव, अब ऐसे करनी पड़ेगी Exams की तैयारी

CBSE ने 10वीं और 12वीं के प्रश्न पत्र के पैटर्न में किया बदलाव, अब ऐसे करनी पड़ेगी Exams की तैयारी

नई दिल्लीः केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने 4 मई 2021 को प्रस्तावित 10वीं व 12वीं की वार्षिक परीक्षा को लेकर सैंपल पेपर जारी कर दिये हैं। सैंपल पेपर की समीक्षा के बाद सीबीएसइ स्कूलों के शिक्षकों व छात्रों ने बताया कि परीक्षा के पैटर्न में कई बदलाव किये गये हैं। अब जब परीक्षा में तीन महीने से भी कम का वक्त बचा है, ऐसे में छात्र पैटर्न में इन बदलावों को ध्यान में रखकर तैयारी करें।

10वीं कक्षा के पैटर्न का नया प्रारूप
10वीं कक्षा की परीक्षा को लेकर सोशल साइंस, साइंस, मैथेमैटिक्स, इंग्लिश और हिंदी विषय में बदलावों की विस्तृत जानकारी दी गयी है। मैथेमैटिक्स बेसिक व स्टैंडर्ड में एक नया सेक्शन जोड़ा गया है, जिसके अंतर्गत चार केस स्टडी बेस्ड प्रश्न पूछे जायेंगे। इस बार एक अंक के 16 सवालों में पांच प्रश्नों में इंटरनल चॉइस दी जायेगी। पांच अंक के लॉन्ग आंसर टाइप सवाल पूछे जायेंगे।

सोशल साइंस पेपर में नया रीडिंग सेक्शन
सोशल साइंस पेपर में नया रीडिंग सेक्शन जोड़ दिया है। सवालों की कुल संख्या 35 से घटा कर 32 कर दी गयी है। साइंस विषय में 20 ऑब्जेक्टिव प्रश्न व दो अंक के छह सवाल आयेंगे। पांच अंकों के तीन सवाल होंगे। हिंदी विषय में चार की बजाय दो खंड ए और बी होंगे। खंड ए में कुल नौ ऑब्जेक्टिव और खंड बी में कुल आठ दीर्घ उत्तरीय प्रश्न होंगे।

12वीं के पीसीएम विषय का नया पैटर्न
अगर आप पीसीएम (फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथेमैटिक्स) के विद्यार्थी हैं तो यहां दी गयी जानकारी आपके लिए बेहद महत्वपूर्ण हो सकती है। फिजिक्स के प्रश्नपत्र में एक नया सेक्शन जुड़ा। इसके तहत चार अंकों के केस-स्टडी पर आधारित दो सवाल पूछे जायेंगे। इस बार कुल प्रश्नों की संख्या 37 से घटा कर 33 कर दी गयी है।

मैथेमैटिक्स का प्रश्नपत्र
मैथेमैटिक्स का प्रश्नपत्र केवल दो सेक्शन में होगा। पहले भाग में 24 अंक के ऑब्जेक्टिव व दूसरे भाग में 56 अंक के वर्णनात्मक सवाल पूछे जायेंगे। कुल प्रश्नों की संख्या 36 से बढ़ कर 38 की गयी। केमिस्ट्री विषय के प्रश्नपत्र में ऑब्जेक्टिव सवालों की संख्या 20 से घटा कर 16 कर दी गयी है। इस तरह कुल सवालों की संख्या घट कर 33 हो जायेगी।