स्कूलों के खिलाफ पेरेंट्स को भड़काने वाले शरारती तत्वों के खिलाफ सख्त एक्शन लेगी CBSE एफिलिएटेड स्कूल्स एसोसिएशन (CASA): अनिल चोपड़ा

स्कूलों के खिलाफ पेरेंट्स को भड़काने वाले शरारती तत्वों के खिलाफ सख्त एक्शन लेगी CBSE एफिलिएटेड स्कूल्स एसोसिएशन (CASA): अनिल चोपड़ा

-सोशल मीडिया पर फैल रही अफवाहों से बचें पेरेंट्स, सुप्रीम कोर्ट-हाईकोर्ट व सरकार के आदेशों को तोड़मरोड़ कर किया जा रहा पेश: तलविंदर सिंह राजू

-फीस देने में असमर्थ पेरेंट्स विरोध की बजाय स्कूल मैनेजमेंट को सौंपे अपना फाइनेंशियल रिकॉर्ड, हम मदद करने को तैयार: अनूप बोरी

जालंधर (अमन बग्गा): सीबीएसई एफिलिएटेड स्कूलस एसोसिएशन (कासा) द्वारा पेरेंट्स और स्कूलों के फांसले को कम करने के लिए अध्यक्ष अनिल चोपड़ा की अध्यक्षता में मीटिंग की गई। जिसमें उपाध्यक्ष जोध राज गुप्ता, जनरल सेक्रेटरी डॉ.अनूप बोरी, तलविंदर सिंह राजू, नरोत्तम सिंह, जॉइंट सेक्रेटरी संजीव मड़िया, राजेश मेयर, विपिन शर्मा, संजीव चोपड़ा आदि शामिल हुए।

सभी मेंबर्स ने बात करते हुए कहा कि पेरेंट्स और स्कूलों के संबंध ख़राब करने के लिए व्हाट्सप्प, फेसबुक और अन्य सोशल मीडिया साइट्स का गलत इस्तेमाल कर उन्हें फीस का भुगतान ना करने के लिए उकसाया जा रहा है। जहाँ अध्यापकों को सबसे उच्च दर्जा दे उनकी पूजा की जाती है वही कुछ शरारती तत्व सोशल मीडिया पर ग्रुप बनाकर उन्हें गालियां दे रहे हैं उनके और स्कूलों के बारे में गलत अफवाहें फैला रहे हैं।

अध्यक्ष अनिल चोपड़ा ने जानकारी देते हुए कहा कि आज के समय में अधिकरतर पेरेंट्स के पास स्मार्ट फ़ोन हैं कुछ शरारती तत्व उन्हें फेसबुक एवं व्हाट्सप्प पर पुरानी खबरों, सरकार के पुराने जा फिर तोड़ मरोड़ बयानों को पेश किया जा रहा है जिससे भोले-भाले पेरेंट्स उनकी बातों में आकर स्कूल के खिलाफ हो जाता हैं।

उन्होंने कहा कि इसे शरारती तत्व को इस बात की शायद जानकारी भी नहीं है कि वह किसी प्रकार लोगों में नफरत फैला रहे हैं। इसका अंजाम कुछ ही समय में बहुत बुरा नज़र आएगा। आखिर में उन्होंने कहा कि यदि स्कूलों के खिलाफ पेरेंट्स को भड़काने वाले शरारती तत्वों नहीं रूके तो उनके खिलाफ CBSE एफिलिएटेड स्कूल्स एसोसिएशन (CASA) सख्त कार्रवाई करेगी।

इस मौके पर तलविंदर सिंह राजू, जनरल सेक्रेटरी डॉ.अनूप बोरी ने बताया कि पेरेंट्स को फीस ना देने के लिए ग्रुप बनाकर उनमें माननीय सुप्रीम कोर्ट, माननीय पंजाब एंड हरियाणा हाई कोर्ट, और सरकार के निर्देशों को तोड़ मरोड़ भेजा जा रहा है। उन्होंने पेरेंट्स को अपील करते हुए वह सोशल मीडिया पर आती ऐसी किसी भी बात पर विश्वास ना करे। इस दौरान अनूप बोरी ने कहा कि फीस देने में असमर्थ पेरेंट्स विरोध की बजाय स्कूल मैनेजमेंट को अपना फाइनेंशियल रिकॉर्ड सौंपे, हम मदद करने को तैयार हैं।

उन्होंने बताया कि स्कूल ने हमेशा छात्रों के बेहतर भविष्य के लिए काम किया है जहाँ कि कोविड-19 की मुश्किल घड़ी में सभी चीजें बंद हो गई थी उस समय भी अध्यापकों और स्कूलों ने छात्रों को पढाई के साथ जोड़े रखने के लिए हर प्रयास किया है।

सभी मेंबर्स ने पेरेंट्स को ऐसी अफवाहों से बचने की अपील करते हुए कहा कि सभी स्कूल माननीय सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के अनुसार ही फीस ले रहे हैं अगर किसी पेरेंट्स को परेशानी है तो स्कूल मैनेजमेंट से अनुरोध कर सकता है स्कूल उनके साथ खड़े होंगें। उन्हें साथ ही कहा कि झूठी अफवाहें कानून के खिलाफ है और वह दिन दूर नहीं जब स्कूल ऐसे शरारती तत्व के खिलाफ कानूनी कारवाई करेंगे।

CBSE Affiliated Schools Association (CASA) to take strict action against mischievous elements who incite parents against schools: Anil Chopra