कोलकाता टेस्ट में टीम इंडिया का पलड़ा भारी, विराट कोहली पिंक गेंद से शतक बनाने वाले पहले बल्लेबाज









कोलकाता: कप्तान विराट कोहली (136 रन) के 27वें शतक की बदौलत विश्व की नंबर एक टीम भारत ने बांग्लादेश के खिलाफ ऐतिहासिक डे-नाइट टेस्ट के दूसरे दिन शनिवार को अपनी पहली पारी नौ विकेट पर 347 रन बनाकर घोषित कर दी। बांग्लादेश ने भारत के पहली पारी घोषित करने के बाद दिन-रात्रि टेस्ट के दूसरे दिन चाय तक दूसरी पारी में 2 विकेट गंवाकर 7 रन बना लिए।

विराट पिंक बॉल से शतक जड़ने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी भी बन गए हैं। इस शतक के बूते विराट ने बतौर कप्तान शतक जमाने के मामले में पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पॉन्टिंग को भी पीछे छोड़ दिया है। बतौर कप्तान विराट का यह 20वां टेस्ट शतक है। हालांकि इस लिस्ट में साउथ अफ्रीका के पूर्व क्रिकेटर ग्रीम स्मिथ टॉप पर हैं जिन्होंने बतौर कप्तान 109 टेस्ट मैचों में 25 शतक लगाए थे।

भारत को पहली पारी में इस तरह 241 रन की भारी भरकम बढ़त मिली। बांग्लादेश ने अपनी पहली पारी में 106 रन बनाये थे। भारत ने दूसरे दिन तीन विकेट पर 174 रन से आगे खेलना शुरू किया था। विराट ने 59 रन और उपकप्तान अजिंक्या रहाणे ने 23 रन से अपनी पारियों को आगे बढ़ाया।

विराट ने 194 गेंदों पर 18 चौकों की मदद से 136 रन बनाये। विराट के करियर का यह 27वां टेस्ट शतक था और इसके साथ ही सर्वाधिक शतक बनाने वाले बल्लेबाज़ों की सूची में संयुक्त रूप से 17वें स्थान पर आ गए। वह पिंक गेंद से शतक बनाने वाले पहले बल्लेबाज बन गए हैं। रहाणे ने 51 रन बनाए। इसके बाद बांग्लादेशी गेंदबाजों ने अच्छी वापसी की और भारत के विकेट झटके।

भारत का स्कोर 89.4 ओवर में जब नौ विकेट पर 347 रन था तो विराट ने भारत की पारी घोषित कर दी। रवींद्र जडेजा ने 12 और विकेटकीपर रिद्धिमान साहा ने 17 रन बनाये। मोहम्मद शमी 10 रन पर नाबाद रहे।

भारतीय टीम ने लंच तक 76 ओवर में चार विकेट के नुकसान पर 289 रन बनाये थे। विराट और रहाणे ने चौथे विकेट के लिये 99 रन की साझेदारी की। रहाणे ने 69 गेंदों में सात चौके लगाकर 51 रन की अर्धशतकीय पारी खेली और अपने टेस्ट करियर का 22वां अर्धशतक बनाया।

रहाणे को तैजुल इस्लाम ने इबादत हुसैन के हाथों कैच कराकर बांग्लादेश के लिए दिन का पहला और भारतीय पारी को चौथा विकेट निकाला। हालांकि इसके बाद लंच तक बंगलादेश को कोई और सफलता नहीं मिली और कप्तान विराट लंच तक 130 रन बना चुके थे। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में अपना 27वां शतक पूरा किया और ऐतिहासिक गुलाबी गेंद टेस्ट को अपनी शतकीय पारी से यादगार बनाया।

विराट ने ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा के साथ मिलकर पांचवें विकेट के लिये 53 रन की साझेदारी की। लंच के बाद जडेजा सबसे पहले आउट हुये जिन्हें अबु जाएद ने पगबाधा किया। जडेजा का विकेट 289 के स्कोर पर गिरा और भारतीय पारी के 300 रन पूरे होने के कुछ देर बाद ही विराट भी पैवेलियन लौट गए। इबादत हुसैन ने विराट को तैजुल के हाथों कैच कराया।

इसके बाद भारत के विकेट बराबर गिरते रहे। अल अमीन ने रविचंद्रन अश्विन (9) और इशांत शर्मा (0) के विकेट झटके जबकि जाएद ने इशांत को खाता नहीं खोलने दिया। विराट ने दूसरे सत्र में भारतीय पारी घोषित कर दी। साहा 41 गेंदों में दो चौकों की मदद से 17 रन और शमी पांच गेंदों में एक चौके और एक छक्के के सहारे 10 रन बनाकर नाबाद रहे। अल अमीन ने 85 रन पर तीन विकेट, इबादत ने 91 रन पर तीन विकेट और जाएद ने 77 रन पर दो विकेट लिए।



error: Content is protected !!