पंजाबः कटी पतंग पकड़ने गए चार वर्षीय मासूम को आवारा कुत्तों ने नोंच डाला, चीखती रह गई मां और बहन-मौत









खन्नाः खन्ना के गांव बाहोमाजरा में प्रेम चंद के चार वर्षीय बेटे विराज कुमार को लावारिस कुत्तों ने नोच डाला। परिजन बच्चे को अस्पताल ले गए लेकिन इलाज न मिलने के कारण उसे रेफर किया और रास्ते में उसकी मौत हो गई। प्रेम चंद ने बताया कि उनका परिवार चार दिन पहले ही बिहार से पैसे कमाने आया हैं। जानकारी के अनुसार, गांव बाहोमाजरा में एक किसान के खेत में लगी मोटर पर उन्हें काम मिला था। उसका बेटा रविवार को शाम के समय खेत में ही मोटर पर खेल रहा था। तभी उसने एक कटी हुई पतंग को खेत के एक साइड में आते हुए देखा और उसकी ओर भागा।

उन्होंने बताया पतंग को देखकर लावारिस कुत्ते भी उसी तरफ आ गए। जहां पतंग गिरी थी वहां कुत्तों के झुंड ने बच्चे को दबोच लिया और उसे नोचने लगे। यहां तक कि उसका सिर भी बुरी तरह नोच लिया। तभी मोटर पर कपड़े धो रही उसकी बहन और मां ने बच्चे के चीखने की आवाज सुनी और उसकी ओर दौड़ीं। इस दौरान मां ने अपने कलेजे के टुकड़े को बचाने का प्रयास किया और काफी देर तक कुत्तों का सामना किया लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी।

कुत्ते बच्चे के शरीर को बुरी तरह से नोच चुके थे। काफी जद्दोजहद के बाद कुत्ते भाग गए और आनन-फानन में उसे खन्ना के सिविल अस्पताल पहुंचाया गया। यहां डाक्टरों ने खानापूर्ति करते हुए बच्चे को पटियाला के लिए रेफर कर दिया, क्योंकि अस्पताल में एंटी रेबीज इंजेक्शन नहीं थे। पटियाला ले जाते वक्त वह कुछ ही दूर गए थे कि रास्ते में बच्चे मौत हो गई।



error: Content is protected !!