“आ बैल मुझे मार”- लापरवाही की हदें पार, अगर आप का भी है जालंधर के इस बैंक में खाता तो हो जाए सावधान

“आ बैल मुझे मार”- लापरवाही की हदें पार, अगर आप का भी है जालंधर के इस बैंक में खाता तो हो जाए सावधान

 

जालंधर【अमन बग्गा】 जिले में कोरोना से 39 मौतों और 2100 से ज्यादा लोगों के चपेट में आने के बाद लापरवाही का दौर जारी है। जालंधर के फुटबॉल चौक के नजदीक पड़ते बैंक ऑफ़ बड़ौदा के रीजनल आफिस के ब्रांच मैनेजर एकता पोपली और इन के पति आदित्य शर्मा जो कि बैंक ऑफ़ बड़ौदा जीटी रोड जालंधर में सहायक ब्रांच मैनेजर है। शक्ति नगर जालंधर निवासी आदित्य शर्मा की 23 जुलाई को और उन की पत्नी एकता की 25 जुलाई को प्राइवेट लैब से कोरोना रिपोर्ट Positive आयी थी। वही बैंक ऑफ़ बड़ौदा जी टी रोड जालंधर ब्रांच के दो अन्य बैंक कर्मी नीलम और विजय भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए है।

 

बावजूद इस के न तो स्वास्थ्य विभाग की तरफ से जीटी रोड स्थित बैंक और फुटबॉल चौक स्थित बैंक के रीजनल आफिस को सील किया गया न ही 5 दिन बीत जाने के बावजूद बैंककर्मियों के कोरोना टेस्ट के लिए सैम्पल लिए गए।

रीजनल ऑफिस की बात करें तो वहां लगभग 150 बैंककर्मी कार्य करते है। रोज हज़ारों लोगों की बैंक में 150 कर्मचारियों के साथ पब्लिक डीलिंग होती है। इस के बावजूद न तो स्वास्थ्य विभाग ने कोई कदम उठाया न ही रीजनल आफिस के हेड Rajay Bhaskar ने अपनी जिम्मेदारी समझते हुए कोई एहतियात बरती।

 

और तो और न ही Rajay Bhaskar ने अपने बैंककर्मियों के कोरोना टेस्ट करवाने में कोई दिलचस्पी दिखाई। 

 

हैरानी की बात ये है कि 5 दिन बीत जाने के बाद भी स्वास्थ्य विभाग के लापरवाह अधिकारी व रीजनल हेड हाथ पर हाथ धरे बेठे इस बात का इंतजार कर रहे है कि कब एक बड़ा कोरोना ब्लास्ट हो ?

PLN की टीम ने जब Rajay Bhaskar से बात करने की कोशिश की तो अपनी लापरवाही छुपाने के लिए वह मीडिया के सवालों से बचते नजर आये। उन की तरफ से टालमटोल करते करते फ़ोन ही काट दिया गया।

लेकिन PLN का Rajay Bhaskar से बड़ा सवाल ये है कि क्या अपने हज़ारों ग्राहकों व बैंककर्मियों की सुरक्षा व्यवस्था की चिंता करना क्या आप की कोई जिम्मेदारी नही है?

 

क्या रीजनल हेड और स्वास्थ्य विभाग ने जिले में 39 मौतों और रोज मिल रहे दर्जनों Positive केसों से कोई सबक नही लिया?


अगर बैंक में अन्य कर्मचारी कोरोना की चपेट में आ गए और उन के द्वारा रोज बैंक में आने जाने वाले हज़ारों लोग कोरोना के शिकार हो गए तो उस की सब से ज्यादा जिम्मेदारी किस अधिकारी की होगी?

वही आप को बता दे कि लापरवाही का आलम इस कद्र है कि अगर प्रशासन की तरफ से पिछले 5 दिनों की बैंक और रीजनल आफिस की CCTV फुटेज देखी जाए तो बैंक में सोशल डिस्टेसिंग के नियमों की उड़ रही धज्जियाँ का भी पर्दाफाश हो सकता है।

 

क्या बोले एसडीएम और सहायक सिविल सर्जन

वही जब स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों और रीजनल हेड की बड़ी लापरवाही के बारें में PLN की टीम ने एसडीएम जय इंदर सिंह और सहायक सिविल सर्जन डॉ गुरिंदर कोर से बात की तो उन्होंने बताया कि जल्द से जल्द इस पूरे मामले की जांच होगी । वही जल्द ही बैंककर्मियों के टेस्ट लिए जाएंगे।

वही PLN की टीम का एसडीएम और सहायक सिविल सर्जन से बड़ा सवाल है कि इतनी बडी लापरवाही का असली गुनहगार कौन है। जिस की लापरवाही की वजह से सैंकड़ों लोगों पर कोरोना का खतरा मंडरा रहा है। PLN जल्द ही लापरवाह अधिकारियों के खुलासे करेगा।

लुधियाना में मंगलवार को बैंककर्मचारी के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद बैंक सील


जालंधर प्रशासन भले ही लापरवाही करने से परहेज नही कर रहा लेकिन लुधियाना में जगराओं के तहसील रोड स्थित एचडीएफसी बैंक के कर्मी की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद बैंक को तीन दिनों के लिए बंद रहेगा।

आप को बता दें कि मंगलवार सुबह बैंक के एक कर्मी की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसके तुरंत बाद सेहत विभाग की टीम द्वारा बैंक काे सील कर दिया गया है।

 

 

 

100% आयुर्वेदिक इस प्रोडक्ट से 2 महीने में कम हुआ 15 kg भार – देखें Video

✅ No Side Effects
♦️भारत सरकार के आयुष मंत्रालय द्वारा ◆ Certified ◆

🔲 Slim हो चुकी लड़की की मोटेपन की तस्वीरें देखकर चोंक जाएंगे आप