केंद्र सरकार का बड़ा फैसला, कोरोना के चलते NPR अनिश्चितकाल तक स्थगित









नई दिल्ली: कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए केंद्र सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। केंद्र सरकार ने नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर यानी कि एनपीआर को अपडेट करने की प्रक्रिया को अनिश्चितकाल तक के लिए रोक दिया है। एनपीआर की प्रक्रिया कई राज्य 1 अप्रैल से शुरू करने वाले थे। लेकिन कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण और इसके संभावित खतरों का आकलन करते हुए गृह मंत्रालय ने कहा है कि अगले आदेश तक एनपीआर को अपडेट करने की प्रक्रिया स्थगित की जाती है।

बता दें कि एनपीआर को लेकर कई महीनों से देश में विरोध प्रदर्शन चर रहा था, हालांकि कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए लॉकडाउन के बाद प्रदर्शनकारियों को हटा दिया गया। विरोधियों का मामना था कि यह उनकी नागरिकता अधिकार का हनन है और इससे वह देश में रहते हुए भी विदेशी घोषित कर दिए जाएंगे। सरकार ने कई अवसरों पर यह बताया कि इससे किसी नागरिक को घबराने की आवश्यकता नहीं है यह सिर्फ जनगणना की एक प्रक्रिया है। सरकार ने कहा, एनपीआर ऑनलाइन माध्यम होगा जिससे देश में होने वाली वर्ष 2021 की जनगणना में नागरिक अपना नाम दर्ज करा सकते हैं।



error: Content is protected !!