लॉकडाऊन ने बिजली की मांग पर डाला असर, बिजली वितरण कंपनियों को होगा नुकसान









चंडीगढ़: कोरोना वायरस के कारण देश में 21 दिनों के लॉकडाऊन से औद्योगिक, वाणिज्यिक और रेलवे के पूरी तरह बंद होने से उत्तरी क्षेत्र में बिजली की मांग में बेहद कमी आई है और मांग में गिरावट प्रदेशों की बिजली वितरण कंपनियों का राजस्व बुरी तरह प्रभावित होगा क्योंकि उनकी आय का बड़ा स्रोत बंद हो गया है।

ऑल इंडिया पॉवर इंजीनियर्स फेडरेशन के प्रवक्ता विनोद गुप्ता के अनुसार पंजाब में बिजली की मांग मंगलवार को कम होकर 2900 मेगावाट रह गई जो पिछले शुक्रवार को 5000 मेगावाट थी। इसी तरह बिजली आपूर्ति गिरकर 1050 लाख यूनिट से 700 लाख यूनिट हो गई। कमी का कारण है कि रेलवे, उद्योग और वाणिज्यिक संस्थान यह बिजली खपाते थे। पंजाब स्टेट पॉवर कार्पोरेशन लिमिटेड (पीएसपीसीएल) के लिए नुकसान प्रति दिन 20 करोड़ रुपये है। देश भर के स्तर पर बिजली की मांग 154045 मेगावाट से गिरकर 121937 मेगावाट हो गई है और बिजली आपूर्ति 35560 लाख यूनिट से घटकर 29750 लाख यूनिट रह गई है।



error: Content is protected !!