चोरी के शक में 22 वर्षीय मुस्लिम युवक की पीट-पीट कर हत्या, जबरन लगवाए गए जय श्रीराम के नारे









जमशेदपुरः झारखंड के सरायकेल खारसवानंद में 22 वर्षीय मुस्लिम युवक की स्थानीय लोगों ने पीट-पीट कर हत्या कर दी। पीड़ित की पहचान तबरेज अंसारी के तौर पर हुई है। जानकारी के अनुसार, युवक को बाइक चोरी करने के शक में बुरी तरह स्थानीय लोगों द्वारा पीटा गया और बाद में पुलिस के हवाले कर दिया गया। यह घटना 18 जून की है। उपचार के लिए युवक को पहले सदर अस्पताल में भर्ती करवाया गया और फिर उसे वहां से जमशेदपुर के टाटा अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया जहां 22 जून को उसकी मौत हो गई। पुलिस ने इस मामले में हत्या के मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

Image result for चोरी के शक में 22 वर्षीय मुस्लिम युवक की पीट-पीट कर हत्या,

तबरेज के एक रिश्तेदार मकसूद आलम का कहना है, उन्होंने उसकी (तबरेज) पिटाई की और बाद में उसे पुलिस को सौंप दिया। उस पर चोरी का आरोप लगाया गया लेकिन यह सांप्रदायिक हमला था। उसे पीटा गया क्योंकि वह मुस्लिम था। उन्होंने उससे बार-बार जय श्री राम और जय हनुमान के नारे लगवाए। पुलिस ने मामले में कार्रवाई करते हुए हत्या के मुख्य आरोपी पप्पू मंडल को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस के अनुसार, उसके पास से चोरी हुई बाइक के अलावा कई और चीजें मिली हैं। वहीं, अंसारी की पत्नी ने पुलिस की भूमिका पर भी सवाल उठाते हुए आरोप लगाया कि पुलिस ने वक्त रहते चिकित्सीय सुविधा उपलब्ध नहीं कराया, जिससे अंसारी की मौत हुई। सरायकेला के पुलिस अधीक्षक कार्तिक एस. अंसारी के परिवार से मिले और उसकी पत्नी के एफआईआर के आधार पर ही गिरफ्तारी हुई।

Related image

राजनीतिक पार्टियों ने इस घटना की निंदा की है। एआईएमआईएम के नेता और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने घटना को लेकर कहा, ‘भीड़ हिंसा की घटनाएं बंद होने वाली नहीं हैं क्योंकि भाजपा और आरएसएस ने मुस्लिमों के खिलाफ नफरत बढ़ा दी है। उन्होंने सफलतापूर्वक इस तरह की मानसिकता पैदा कर दी है जहां मुस्लिमों को आतंकी, भारत विरोधी और गोहत्या करने वाले के तौर पर देखा जाता है।’

error: Content is protected !!