हवस के भूखे भाई नजीरूद्दीन की हैवानियत, पहले बहन और भांजी को किया घायल, फिर बेहोशी की हालत में बारी-बारी किया दोनों का रेप, मरने के बाद तक करता रहा बलात्कार

हवस के भूखे भाई नजीरूद्दीन की हैवानियत, पहले बहन और भांजी को किया घायल, फिर बेहोशी की हालत में बारी-बारी किया दोनों का रेप, मरने के बाद तक करता रहा बलात्कार

आजमगढ़ः आज हम आपको हवस की ऐसी हैवानियत की कहानी बता रहे हैं, जैसी न तो आपने देखी होगी और न सुनी होगी, एक ऐसा भाई जिसकी हवस की भूख ने भाई-बहन के पवित्र रिश्ते को तार-तार कर दिया। हवस का ऐसा जुनून कि सामने आए जीजा को भी मार डाला। हवस के भूखे ममेरे भाई ने अपनी बह नऔर भांजी के साथ जो किया उसकी कोई कल्पना भी नहीं कर सकता। बहन-भांजी खून से लथपथ तड़प रही थी और उसी का अपना भाई-मामा उनके साथ बारी-बारी दुष्कर्म कर रहा था। हवस की ऐसी आग कि बहन की सांसे बंद हो गयी लेकिन उसने रेप करना बंद नहीं किया। यही नहीं उसने इस हैवानियत की वीडियो भी बनाई।

जानकारी के मुताबिक यह पूरा मामला उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ के मुबारकपुर थाना क्षेत्र का बताया जा रहा है। पुलिस ने बताया कि आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है, आरोपी नजीरूद्दीन उसी गांव का बताया जा रहा है। पुलिस के मुताबिक नसीरुद्दीन सेक्स एडिक्ट है। हरियाणा में रहकर जब वह नौकरी करता था तो दिल्ली में रेड लाइट क्षेत्र में हवस को शांत करने के लिए पहुंच जाता था। उसके हवस की दरिंदगी से त्रस्त आकर उसकी बीवी भी उसे एक माह पूर्व छोड़कर चली गई थी। बीवी के जाने के बाद वह हवस शांत के लिए इधर उधर मौके की तलाश में लगा था। इसी दौरान जब उसे कोई नहीं मिला तो उसने अपनी ही फुफेरी बहन को शिकार बनाने की योजना बनाई।

पुलिस के मुताबिक 24 नवंबर की रात को नजीरूद्दीन एक दवा की दुकान से कामोत्तेजक दवा आदि खरीदा। दवा खाकर सीधा अपनी बहन के घर पहुंचा। घर के अंदर घुसते ही जब उसके जीजा ने सवाल किया तो उनके सिर पर ईंट से प्रहार कर उन्हे मार डाला। शोरगुल सुनकर जब बहन जग गई तो उसके सिर पर व पास में सो रहे 4 माह के मासूम बच्चे के भी सिर पर ईंट से प्रहार कर दिया। हमले में मासूम बच्चे की मौत हो गई। इसी दौरान घायल बहन को बेहोशी की हालत में उसे निर्वस्त्र कर दुराचार किया। घायल बहन जब हाथ पांव डुलाने लगी तो फिरसे उसके सिर पर प्रहार कर दिया। जिससे उसकी मौत हो गई। नजीरूद्दीन की हवस की आग ऐसी थी कि बहन की सांसे बंद हो गयीं लेकिन उसने दुष्कर्म करना बंद नहीं किया और लाश के साथ भी हैवानियत को अंजाम देता रहा। तभी शोर सुनकर बेड पर सो रही 10 वर्षीय भांजी और 5 वर्षीय भांजा भी जाग गया। नजीरूद्दीन ने इन दोनों के सिर पर प्रहार करके घायल कर दिया।

नजीरूद्दीन की हवस की भूख अभी शांत नहीं हुई थी। बहन के बाद अब उसने सामने घायल अवस्था मेें बेसुध पड़ी 10 वर्षीय भांजी को शिकार बनाया। दंरिदे ने मासूम को निर्वस्त्र कर उसके साथ दुराचार किया। इतना ही दुष्कर्म के दौरान उसने अपने मोबाइल से वीडियो भी बनाया था। जब पुलिस मौके पर पहुंची तो महिला की लाश नग्न अवस्था में मिली और पास में ही कंडोम पड़ा मिला। मौके पर घर के सामान बिखरे थे। चूंकि मृतका का पूरा परिवार गरीब था, इसलिए वह तुरंत समझ गई यह मामला लूट का नहीं हो सकता और वह दुष्कर्म के बाद हत्या मानकर जांच में जुट गई, और गहन छानबीन के आरोपी नजीरूद्दीन को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी ने अपना जुर्म स्वीकार कर लिया है।