अर्थव्यवस्था की रफ्तार को गति देने के लिए सरकार ने किया बड़ी कटौती का ऐलान, कंपनियों को कॉरपोरेट टैक्स में मिलेगी छूट






नई दिल्लीः अर्थव्यवस्था की सुस्त पड़ गई रफ्तार को गति देने के लिए सरकार ने घरेलु कंपनियों और नई घरेलु विनिर्माण कंपनियों के वास्ते कंपनी कर की दरों में बड़ी कटौती का एलान किया है। वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) परिषद की शुक्रवार को होने वाली बैठक से पहले केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने यह एलान किए। इनमें किसी भी घरेलु कंपनी को बिना छूट के 22 प्रतिशत आयकर भुगतान का विकल्प होगा।

वित्त मंत्री ने उन कंपनियों को भी राहत दी है जिन्होंने 5 जुलाई 2019 से पहले बाई-बैक का ऐलान किया है। उन्होंने कहा कि ऐसी कंपनियों को शेयरों के बाई-बैक पर अब कोई टैक्स नहीं लिया जाएगा। इसके साथ ही 1 अक्टूबर के बाद बनी नई घरेलू विनिर्माण कंपनियां बिना किसी प्रोत्साहन के 15 प्रतिशत की दर से आयकर भुगतान कर सकती हैं।

वहीं, वित्त मंत्री के ऐलानों से शेयर बाजार खिलखिला उठा है। बाजार में दिवाली जैसी रौनक है और लगभग सभी प्रमुख सेक्टरों में उछाल दिख रही है। वित्त मंत्री की घोषणा के बाद सेंसेक्स करीब 900 अंक तक चढ़ गया। वित्त मंत्री ने इस दौरान MAT को पूरी तरह खत्म करने की घोषणा की। उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा सरकार की ‘मेक इन इंडिया’ में निवेश की कोशिश है। साथ ही उन्होंने शेयर बिक्री से कैपिटल गेन पर सरचार्ज नहीं लगाने की भी बात कही।

error: Content is protected !!