तैयार हो जाएं! 2 अक्टूबर के बाद बढ़ने वाली है इस चीज की डिमांड, लाखों में होगी कमाई









नई दिल्लीः 2 अक्टूबर से मोदी सरकार देशभर में प्लास्टिक बंद करने की तैयारी है। ऐसे में प्लास्टिक बैग, कप और स्ट्रॉ पर पाबंदी लगा जाएगी। पॉलीथिन के खत्म होने से प्लास्टिक बैग्स का कारोबार भी खत्म हो जाएगा। इसके डिजाइनर पेपर बैग या पेपर कैरी बैग की डिमांड मार्केट में तेजी आएगी। पेपर बैग पर्यावरण के लिए पूरी तरह सुरक्षित हैं। अगर कम पैसों में बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो पेपर बैग मेकिंग बिजनेस आपके लिए रोजगार का बेहतर विकल्‍प है। चलिए जानते हैं कि इस बिजनेस को आप कैसे शुरू कर सकते हैं और इससे आपको कितनी कमाई होगी…

अब पेपर बैग का इस्‍तेमाल लगभग हर जगह हो रहा है, चाहे वो गारमेंट शॉप, बैकरी, शू और चप्‍पल शॉप, ग्रोसरी शॉप, बुक शॉप, स्‍वीट शॉप या फिर कोई और हो। अब कस्टमर्स भी पेपर बैग की ही डिमांड करते हैं। ऐसे समय में यदि आप पेपर बैग बनाने की यूनिट लगाते हैं तो यह फायदे का बिजनेस साबित हो सकता है। अगर आप पेपर बैग बनाने की यूनिट लगाना चाहते हैं तो सरकार आपको एक करोड़ रुपए तक का लोन दे सकती है। यह लोन आपको उद्यमी मित्र नाम की सरकारी योजना के तहत मिलता है।

केंद्र सरकार की उद्यमी मित्र योजना के तहत, अगर आप अपनी यूनिट लगाने के लिए लैंड और बिल्डिंग परचेज करते हैं तो आपको लगभग 32 लाख रुपए इस पर खर्च करने होंगे। हालांकि आप किराए की बिल्डिंग में भी यह यूनिट लगा सकते हैं। इसके अलावा आप उद्यमी मित्र की वेबसाइट www.udyamimitra.in पर हैंड होल्डिंग सर्विसेज, मेंटरिंग आदि के बारे में पूरी जानकारी ले सकते हैं।

आपको प्‍लांट एंड मशीनरी पर 14.65 लाख रुपए का खर्च करना होगा। अन्‍य एसेट के नाम पर 3 लाख, पीएंडपी एक्‍सपेंस पर 2.15 लाख रुपए, कंटीजैंस पर 4.67 लाख रुपए और वर्किंग कैपिटल मार्जिन के तौर 91.64 लाख रुपए यानी कुल 1 करोड़ 48 लाख रुपए की प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट बनानी होगी। वर्किंग कैपिटल में रॉ-मैटिरियल भी शामिल होगा। प्रोजेक्‍ट प्रोफाइल के मुताबिक, पहले साल में आपको 1 लाख 76 हजार रुपए का कुल प्रॉफिट हो सकता है. दूसरे साल में आपको 6 लाख 7 हजार रुपए का और उसके अगले साल बढ़कर 10 लाख 78 हजार रुपए तक का प्रॉफिट हो सकता है। चौथे साल में यह 12 लाख 17 हजार और पांचवें साल में 13 लाख 56 हजार रुपए का प्रॉफिट हो सकता है।

error: Content is protected !!