पहले जबरन कर डाली नसबंदी, अब दे रही है 20 लाख का मुआवजा, जानें क्या है मामला









टोक्योः जापानी सरकार ने पहले तो 25 हजार लोगों की जबरन नसबंदी कर डाली परन्तु गलती का ऐहसास होते ही माफी मांगते हुए अब प्रत्येक व्यक्ति को 20 लाख का मुआवजा भी दे रही है।
जापान सरकार ने उन हजारों लोगों से माफी मांगी है जिनकी ‘युजेनिक्स प्रोटेक्शन’ कानून के तहत जबरन नसबंदी कराई गई थी। सरकार ने पीड़ितों को मुआवजा देने का भी वादा किया है। जापान की संसद ने बुधवार (24 अप्रैल) को एक विधेयक पारित किया जिसके तहत हर पीड़ित को 28,600 डॉलर मुआवजा मुहैया कराने समेत पीड़ितों की मदद की जाएगी।

जापान में 1948 युजेनिक्स सुरक्षा कानून 1996 लागू किया गया था. इस दौरान 25,000 लोगों की उनकी मर्जी के बिना नसबंदी की गई थी. इस कानून के तहत चिकित्सकों को अक्षम लोगों की नसबंदी करने की अनुमति थी।



error: Content is protected !!