अमेरिका के हयूस्टन में पहले सिख पुलिस अधिकारी की गोली मारकर हत्या, पढ़ें पूरा मामला






नई दिल्ली: अमेरिका के टेक्सस के हयूस्टन में भारतीय मूल के पहले सिख पुलिस अधिकारी की गोली मारकर हत्या कर दी गई। आरोपी ने पुलिस अधिकारी पर कई राउंड की फायरिंग की, जिसमें उनकी मौत हो गई। स्थानीय पुलिस ने मृतक सिख पुलिस अधिकारी की पहचान संदीप सिंह धालीवाल के रूप में की है। वह बीते 10 साल से अमेरिकी पुलिस में कार्यरत थे।

Image result for america sikh police firing

ह्यूस्टन क्रॉनिकल ने शेरिफ एड गोंजालेज ने बताया कि यह घटना उस वक्त हुई जब संदीप ने आरोपी युवक की कार को एक ट्रैफिक सिग्नल के पास रोका और उसे बाहर आने के लिए। घटना के समय आरोपी अपनी एक महिला मित्र के साथ कार में बैठा हुआ था। आरोपी संदीप के रोके जाने के बाद कार से बाहर आया और संदीप को पीछे से गोली मार दी।

Image result for america sikh police firing

एक अधिकारी ने बताया, धालीवाल के कैमरे में कैद कुछ तस्वीरें मिलीं, जिनकी मदद से हमलावर को पकड़ा गया। फुटेज को सभी अधिकारियों के साथ साझा कर दिया गया था। ऐसे में हमलावर की पहचान करना ज्यादा मुश्किल नहीं था। पुलिस ने हमलावर की कार भी बरामद कर ली है। महिला और पुरुष दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

Image result for america sikh police firing

गोंजालेज ने बताया वह टेक्सास में पहले ऐसे पुलिस अधिकारी थे जो सिख धर्म की मान्यताओं (पगड़ी और दाढ़ी) के साथ सेवा दे रहे थे। सांस्कृतिक विविधता को बढ़ावा देने के लिए धालीवाल को अपने पगड़ी और दाढ़ी के साथ पुलिस में सेवा देने की इजाजत दी गई थी। संदीप कई लोगों के लिए उदाहरण की तरफ थे। उन्होंने हरिकैन के बाद तबाह हुए इलाके में लोगों की मदद के लिए काफी कुछ किया था। 2015 में संदीप ने बतौर सिख पुलिस ऑफिसर के तौर पर काम करते हुए एक रिकॉर्ड भी बनाया था। वह हमेशा अपने पहनावे और रहन-सहन पर गर्व करते थे। संदीप ने सिखों को एक साथ रखने के लिए भी बहुत काम किया था।

error: Content is protected !!