फ्रैंको मुलक्कल के खिलाफ बयान देने वाले फादर कुरियाकोसे कट्टूथारा की मौत, भाई ने कहा हत्या हुई, मीडिया मौन









Punjab Live News (PLN News)

PLN:जालंधर{अमन बग्गा} हिन्दू सन्तों पर महीना महीना मीडिया ट्रायल चलाने वाला तमाम मीडिया अब मौन है क्योंकि उंगली एक ईसाई प्रचारक पर उठ रही है।

केरल के बहुचर्चित नन रेप केस के आरोपी बिशप फ्रैंको मुलक्कल के खिलाफ बयान देने वाले फादर कुरियाकोसे कट्टूथारा की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई है। 60 वर्षीय कुरियाकोसे को सोमवार सुबह जालंधर के भोगपुर इलाके में मृत अवस्था में पाया गया है। उसकी मौत का कारण अब तक पता नहीं चल सका है। कुरियाकोसे के भाई जोस कट्टूथारा ने हत्या का आरोप लगाया है। उसने कहा कि उनके भाई की हत्या की गई है। उन्हें पिछले कुछ समय से धमकियां मिल रही थीं।

भाई का शव मिलने की खबर मिलते ही वे अल्प्पे के लिए रवाना हो गए हैं। इसने कहा कि वो अलप्पे पहुंचकर इस मामले में शिकायत दर्ज कराएंगे। इसके बाद वे जालंधर जाकर वहां भी शिकायत दर्ज कराएंगे। मीडिया रिपोट्र्स के मुताबिक कुरियाकोसे की कार पर हमला भी हुआ था। गौर करने वाली बात यह है कि केरल हाईकोर्ट से जमानत मिलने के बाद आरोपी फ्रैंको मुलक्कल 17 अक्टूबर को ही जालंधर पहुंचा है। उसके जालंधर पहुंचने के 5 दिन के अंदर ही फादर कुरियाकोस की मौत हो गई।

बता दें कि जालंधर डायसिस के पूर्व बिशप फ्रैंको मुलक्कल पर एक नन ने 2014 से 2016 के बीच रेप और अप्राकृतिक सेक्स करने का आरोप लगाया था। जून में कोट्टयाम पुलिस को दी गई अपनी शिकायत में नन ने आरोप लगाया था कि बिशप ने मई 2014 में कुराविलंगाड गेस्ट हाउस में उनका रेप किया और बाद में भी यौन शोषण करता रहा।

इस मामले में नन ने पोप को भी पत्र लिखकर कार्रवाई की मांग की थी। मामला बढ़ता देख मुलक्कल ने भी पोप को पत्र लिखकर कुछ वक्त के लिए अपनी जिम्मेदारी से मुक्त होने की अनुमति मांगी थी। इसके बाद उसने पद छोड़ दिया था। इस मामले में केरल पुलिस ने मुलक्कल को 19 सितंबर को पेश होने का समन भेजा था। तीन दिन की पूछताछ के बाद केरल पुलिस ने मुलक्कल को 21 सितंबर को गिरफ्तार कर लिया था। करीब 21 दिन के बाद केरल हाईकोर्ट ने 15 अक्टूबर उसे सशर्त जमानत दे दी थी।

यहां हैरान कर देने वाली बात ये है कि जब एक बड़े हिन्दू सन्त श्री आसारामजी बापू पर आरोप लगा तो तो उन्हें सीधा जेल में डाल दिया गया, 5 साल से ज्यादा समय हो गया है, उन्हें एक बार भी जमानत तक नहीं मिली। और इधर मुक्कल को मात्र 24 दिन बाद ही जमानत दे दी गयी है। स्वभाविक है कि इससे हिंदुओं के मन मे न्याय प्रणाली के प्रति शंकाएं तो पैदा होंगी ही।

Father Kuriyakoshi Kattudathara, who gave statements against Franco Mulkkal, was killed-brother said, media silent

error: Content is protected !!