पंजाब में किसानों ने जाम किया रेलवे ट्रैक, 11 ट्रेन रद्द, दर्जनों प्रभावित









चंडीगढ़ः पंजाब के किसान संगठन लंबे समय से राज्य सरकार पर मांगों की अनदेखी का आरोप लगा रहे हैं। आज पराली जलाने को लेकर किसानों पर दर्ज केसों को रद्द करने की मांग को लेकर पंजाब में किसान संगठन मंगलवार को रेल ट्रैक पर बैठ गए। प्रदर्शनकारियों ने 20 मेल, 12 पैसेंजर ट्रेनों को रोक दिया है। इन ट्रेनों को ब्यास-जालंधर, फिरोजपुर-लुधियाना, फिरोजपुर-फाजिल्का के बीच रोका गया है। 11 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया। इनमें लगभग 25 से 30 हजार यात्री सफर कर रहे हैं।

किसानों का आरोप है कि आज भी हजारों किसानों का चीनी मिलों की तरफ बकाया है। चालू सीजन में चीनी मिल मालिक न तो गन्ना खरीद रहे हैं और न ही पुराना बकाया दे रहे हैं। किसानों का कहना है कि पंजाब सरकार की ओर से पराली जलाने वाले किसानों के विरुद्ध मामले दर्ज किए जा रहे हैं और उन्हें गिरफ्तार किया जा रहा है लेकिन पराली के मुद्दे पर किसानों की कोई मदद नहीं की जा रही है।

किसानों का कहना है कि वह इस मुद्दे पर मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ सितम्बर माह के दौरान बैठक कर चुके हैं। इसमें उन्होंने अधिकारियों को जल्द से जल्द किसानों की समस्याओं का समाधान करने के निर्देश दिए थे लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं होने पर किसानों ने आज से आंदोलन शुरू कर दिया। पुलिस ने जहां किसानों की धरपकड़ शुरू कर दी है वहीं किसानों ने अपना आंदोलन तेज करने का ऐलान किया है।



error: Content is protected !!