धर्मेंद्र बोले- अगर मुझे पता होता कि…, तो सनी देओल को मैं चुनाव लड़ने की मंजूरी नहीं देता









गुरदासपुर: सन्नी देयोल के पिता व बॉलीवुड अभिनेता और पूर्व भाजपा नेता धर्मेंद्र ने कहा कि अगर उन्हें पता होता कि उनके बेटे सनी देओल गुरदासपुर से कांग्रेस सांसद सुनील जाखड़ के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं तो वह उन्हें मंजूरी नहीं देते। धर्मेंद्र ने कहा, ‘बलराम जाखड़ मेरे भाई जैसे थे, अगर मुझे पता होता कि उनके बेटे सुनील जाखड़ गुरदासपुर से चुनाव लड़ रहे हैं तो मैं सनी देओल (Sunny Deol) को उनके खिलाफ चुनाव लड़ने की मंजूरी नहीं देता’ साथ ही उन्होंने बताया कि फिल्म इंडस्ट्री से आने वाले सनी देओल, जाखड़ जैसे अनुभवी नेता से बहस नहीं कर सकते।
बता दें, धर्मेंद्र की पत्नी हेमा मालिनी भी भाजपा के टिकट पर मथुरा से चुनाव लड़ रही हैं। हेमा मालिनी ने साल 2014 में भी इस सीट से चुनाव लड़ा था। मथुरा में कांग्रेस ने महेश पाठक और राष्ट्रीय लोक दल ने कुंवर नरेंद्र सिंह को उतारा है. धर्मेंद्र ने कहा, ‘सुनील भी मेरे बेटे जैसे हैं, मेरे उनके पिता बलराम जाखड़ के साथ अच्छे रिश्ते थे। सुनील उनके साथ बहस नहीं कर सकते, क्योंकि वह सुनील एक अनुभवी नेता हैं और उनेक पिता भी अनुभवी राजनेता रहे हैं। लेकिन हम लोग फिल्म इंडस्ट्री से ताल्लुक रखते हैं। हालांकि, हम लोग यहां बहस करने के लिए नहीं हैं, हम लोग यहां के लोगों की बातें सुनने आए हैं, क्योंकि यहां की जमीन से हम लोग प्यार करते हैं।’

साथ ही धर्मेंद्र ने खुलासा किया कि वह उस वक्त भावुक हो गए थे, जब उन्होंने अपने बेटे के पहले रोड शो में उनका समर्थन करने वालों की भीड़ देखी। उन्होंने कहा, ‘मैं मुंबई से रोड शो देख रहा था, उसमें काफी भीड़ थी। मैं भावुक हो गया था। मैं जानता हूं कि लोग हमसे प्यार करते हैं, लेकिन इतना सारा प्यार देखकर मैं हैरान हो गया था.’ सुनील जाखड़ गुरदासपुर से मौजूदा सांसद हैं। अभिनेता से नेता बने विनोद खन्ना के निधन के बाद हुए उपचुनाव में सुनील जाखड़ ने साल 2017 में यह सीट जीती थी। यह सीट भाजपा का गढ़ रही है। खन्ना ने साल 1998 में इस सीट से पहली बार जीत हासिल की थी।

error: Content is protected !!