ईसाई स्कूल St. ग्रेगोरियस स्कूल ने श्री गुरु गोबिंद सिंह को आंतकवादी और खालसा पंथ को बताया आंतकी पंथ. सिखों का फूटा गुस्सा, कड़ी कार्रवाई की मांग









 

नई दिल्ली: दिल्ली के द्वारका में स्थित ईसाई स्कूल St. ग्रेगोरियस स्कूल में एक ऐसा मामला सामने आया है जिससे सिखों का गुस्सा उफान पर है। इस मामले संबंधित दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक  कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने स्कूल के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है। इस स्कूल ने श्री गुरू गोबिंद सिंह जी की महान शहादत के बारे में बताने की बजाए श्री गुरुगोबिंद सिंह को आतंकवादी और उनके द्वारा खालसा पंथ रचना को आतंकी पंथ करार दिया है।

पुलिस में दायर शिकायत में सिरसा ने कहा कि स्कूल ने स्टूडेंट्स से एक सवाल किया था, जिसमें गुरु गोबिंद सिंह जी को एक आतंकवादी बताया गया। सिखों की भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए स्कूल के खिलाफ आईपीसी की अलग-अलग धाराओं के तहत कार्रवाई होनी चाहिए। सिरसा ने दिल्ली सरकार को बताया कि क्लास 7वीं के सामाजिक विज्ञान विषय के पेपर में यह सवाल डाला गया था। उन्होंने कहा कि स्कूल ने तथ्यों को तोड़-मरोड़कर गुरु गोबिंद सिंह जी का अक्स खराब करने की कोशिश की है। इससे सिखों की भावनाओं को ठेस पहुंची है। उन्होंने मांग करते हुए कहा कि स्कूल प्रशासन के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए और स्कूल की मान्यता रद्द होनी चाहिए, जिससे भविष्य में ऐसी गलती दोबारा ना हो।

मनजिंदर सिंह सिरसा ने फेसबुक पर वीडियो शेयर कर इस स्कूल के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने दिल्ली पुलिस को स्कूल के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की, सीबीएसई और दिल्ली सरकार से कड़ी कार्रवाई करने की अपील की है।

उन्होंने कहा कि स्कूल को सख्त से सख्त सजा मिलनी चाहिए ताकि फिर दोबारा कोई ऐसी गल्ती न करें, जिससे लोगों के दिल को ठेस पहुंचे।

देखें वीडियो- 

जो स्कूल अपने बच्चों को श्री गुरु गोबिन्द सिंह जी की महान शहादत के बारे में बताने की बजाए उनके द्वारा बनाये खालसा पंथ रचना को MILITANT क़रार दे रहा हो; उस स्कूल का इस समाज में होने ही घातक है। हम CBSC से विनती करते हैं कि इस स्कूल की मान्यता रद्द की जाए और स्कूल प्रशासन के ख़िलाफ़ तुरंत कार्यवाही की जाये

Posted by Manjinder Singh Sirsa on Saturday, February 29, 2020



error: Content is protected !!