दिल्ली : औरंगजेब बन गयी सरकार, तोड़ डाला 60 साल पुराना मां दुर्गा मंदिर









PLN : हिन्दू शायद आज तक कभी भी ऐसे बुरे दौर से नहीं गुजरा जितना आज गुजर रहा है। आजाद भारत में जिहादी हिंदुओं के पीछे पड़े हुए हैं, मिशनरियां जोर शोर से हिंदुओं के धर्म परिवर्तन में लगी हुई हैं। अब अदालतें भी हिन्दू धर्म को कानून के अनुसार चलाने लगी हैं। इतने में आततायियों का जब मन नहीं भरा तो अब सरकारी तौर पर भी हिन्दू मन्दिरों को ध्वस्त करने की प्रक्रिया चालू हो गयी है।

मुगल आक्रान्ता औरंगजेब के शासनकाल में जिस तरह से हिन्दू आस्थाओं को कुचला जाता था, हिन्दुओं का दमन किया जाता था.. आये दिन मजहबी जिहादी मानसिकता से वशीभूत होकर मुगल आक्रान्ता औरंगजेब के राज में जिस तरह से हिन्दुओं का कत्लेआम हुआ, हिन्दू मंदिरों को तोड़ा गया.. उसी तरह से आज देश के कई हिस्सों में कहीं न कहीं वही स्थिति समय-समय पर दिखाई देने लगी है। जब तथाकथित सेक्यूलर राजनीति के पैरोकार, मुस्लिम तुष्टीकरण की नीतियों के तहत हिन्दुओं का दमन करते हैं और हिन्दू मंदिरों पर बुलडोजर चलवाते हैं।

इसी तथाकथित सेक्यूलर मुस्लिम तुष्टीकरण की राजनीति का उदाहरण देश की राजधानी दिल्ली में आज देखने को मिला जब गीता कॉलोनी, फ्लाईओवर के पास स्थापित प्राचीन माँ दुर्गा मंदिर को दिल्ली सरकार के आदेश पर तोड़ डाला गया। दिल्ली सरकार ने मुगल आक्रान्ता विधर्मी औरंगजेब तथा खिलजी का अनुसरण करते हुए 60 साल पुराने मां दुर्गा के भव्य मंदिर को तोड़ दिया। ये मंदिर जिस प्राचीन गौशाला के अंदर बना हुआ था उसे भी तहस नहस कर दिया गया है। गौशाला को तोड़ते समय वहां की कई गायों को भी घायल कर दिया गया।

बता दें कि मंदिर तोड़े जाने की सूचना मिलते ही दिल्ली एनसीआर में सक्रिय हिन्दू संगठनों ने मंदिर बचाओ अभियान शुरू किया था तथा आज सुबह 10 बजे हिंदुओं को मंदिर परिसर पहुँचने आह्वान किया था।

दिल्ली सरकार तथा प्रशासन को इस बात की भनक लग चुकी थी कि सुबह 10 बजे हिन्दू कार्यकर्ता मंदिर पर एकत्रित होंगे, इसलिए मंदिर को तोड़ने पर आमादा दिल्ली सरकार के कर्मचारी सुबह 6 बजे ही बुलडोजर मशीनों के साथ गीता कॉलोनी पहुंचे तथा मंदिर को तोड़ दिया। श्री हनुमान जी की मूर्ति को उखाड़कर फेंक दिया। जब तक हिन्दू अपने मंदिर को बचाने के लिए पहुँचते, उससे पहले ही मंदिर को दिल्ली सरकार तुड़वा चुकी थी। अपने मंदिर को टूटा हुआ देख कर हिन्दू तड़प उठे तथा उन्होंने भारी विरोध प्रदर्शन किया। अभी खबर लिखे जाने तक भारी संख्या में हिन्दू मंदिर स्थल पर मौजूद हैं और विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

 

 

Delhi: Aurangzeb became the government, broke 60 years old Mother Durga temple



error: Content is protected !!