लक्ष्मी पर तेजाब फेंकने वाला दरिंदा था मुस्लिम युवक नदीम खान, फ़िल्म ‘छपाक’ में एसिड फेंकने वाले हैवान नदीम खान का नाम बदलकर हिन्दू नाम राजेश नही बल्कि बब्बू उर्फ़ बशीर खान रखा गया, सोशल मीडिया का दावा निकला फेक

लक्ष्मी पर तेजाब फेंकने वाला दरिंदा था मुस्लिम युवक नदीम खान, फ़िल्म ‘छपाक’ में एसिड फेंकने वाले हैवान नदीम खान का नाम बदलकर हिन्दू नाम राजेश नही बल्कि बब्बू उर्फ़ बशीर खान रखा गया, सोशल मीडिया का दावा निकला फेक

PLN (अमन बग्गा) बॉलीवुड एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone) इन दिनों अपनी अपकमिंग फिल्म ‘छपाक’ (Chhapaak) के प्रमोशन में बिजी हैं. दीपिका के जेएनयू जाने के बाद से सोशल मीडिया पर बायकॉट ‘छपाक’ #boycottchhapaak ट्रेंड कर रहा है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि कौन हैं लक्ष्मी अग्रवाल और क्या है उनकी कहानी. यहां हम आपको लक्ष्मी अग्रवाल की कहानी बता रहे हैं जिन पर यह फिल्म बन रही है.

साल 2005 में 15 साल की लक्ष्मी पर 32 साल के मुस्लिम युवक नदीम खान (Nadeem Khan) ने 2 लोगों के साथ मिलकर एसिड हमला कर दिया था. इस भयानक हमले के 3 महीने बाद तक लक्ष्मी हॉस्पिटल में एडमिट रहीं. इस एसिड अटैक का कारण था कि लक्ष्मी ने दरिन्दे नदीम खान से शादी से इंकार कर दिया था. बता दें कि नदीम खान लक्ष्मी के बड़े भाई का दोस्त था.

सोशल मीडिया पर दीपिका के जेएनयू जाने के बाद लोग दीपिका के विरोध में ट्वीट कर रहे हैं।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा दावा कि लक्ष्मी अग्रवाल पर एसिड फेंकने वाले नदीम खान का नाम बदलकर एक हिन्दू नाम राजेश रखा गया यह पूरी तरह से नकली साबित हुआ।

दरअसल नदीम खान का नाम बदलकर हिन्दू नाम राजेश नही बल्कि बब्बू उर्फ़ बशीर खान रखा गया।