साइबर ठगों ने निकाला नया तरीका, अब इस तरह लोगों को बना रहे शिकार



नई दिल्लीः साइबर पुलिस की निगरानी और सतर्कता के बाद जहां साइबर क्राइम में कमी आई है। वहीं अब साइबर ठगों ने व्हाट्सएप पर कॉल कर ठगने का नया तरीका निकाल लिया है क्योंकि व्हाट्सप कॉल की बातचीत का रिकार्डिंग करना कठिन है। पहले बैंक मैनेजर, कर्मचारी के नाम पर लोगों के पास फोन आता था और एकाउंट नंबर, एटीएम कार्ड एक्सपायरी होने का हवाला देकर ठगी लागों से पिन नंबर, एटीएम कार्ड नंबर सहित मोबाइल नंबर से ओटीपी भी मांग लेते थे और चंद सेकेंडों में खाते से रुपए उड़ा लेते थे। लेकिन इस पर अब जागरुकता आई है, इसलिए कि यह अब ठगों के लिए पुरानी बात होने के साथ यह बात तकरीबन 90 फीसदी लोग समझ चुके हैं।

अब ये ठगी का नया तरीका
एक व्यक्ति ने बताया कि उन्हें उनके मोबाइल पर 9352128128 इस नंबर से कॉल आया। उस नंबर की ओर से मोबाइल धारक से कहा गया कि आपका जियो कंपनी की ओर से 25 लाख रुपए का लाटरी फंसा है। मै आपको जिओ के अधिकारी विजय कुमार 0040799124520 दे रहा हूं उसमें व्हाट्सएप कॉलिंग कर लीजिए कुछ ही घंटे में आपके खाते में 25 लाख ट्रांसर्फर हो जाएगा। मोबाइल धारक ने उत्सूकता वश अपने मोबाइल में नंबर को सेव किया।

व्हाट्सएप कॉलिंग भी किया, लेकिन दूसरी ओर से रिसीव करने में देरी हो गई। जैसे ही फोन डिसकनेक्ट हुआ पुन: साइबर ठगों की ओर से लगातार तीन-चार कॉल आ गया। और उनके ओर से वही डिटेल मांगा जा रहा था, जैसे पहले बैंक मैनेजर के रूप में मांगा जाता था। हालांकि मोबाइल धारक को समझने में अधिक देर नहीं लगी उन्होंने जैसे ही पुलिस शिकायत करने की बात की तुरंत फोन काटकर स्वीच ऑफ कर दिए।



error: Content is protected !!