इस वजह से अब ATM से 10,000 से ज्‍यादा कैश निकालने के लिए डालना होगा OTP. इस बैंक ने बदला नियम






नई दिल्ली : एटीएम से बढ़ती फ्रॉड की घटनाओं को ध्यान में रखते हुए केनरा बैंक ने ग्राहको की सुविधा के लिए नया फीचर शुरू किया है. सेफ्टी को ध्यान में रखते हुए केनरा बैंक ने 10000 रुपये से ज्यादा के ट्रांजेक्शन पर ओटीपी जरूरी कर दिया है. इस सुविधा के तहत यदि आप एटीएम से 10000 रुपये या इससे से ज्यादा कैश निकालना चाहते हैं तो एटीएम ट्रांजेक्शन के समय आपको अपना मोबाइल रखना जरूरी होगा.

ATM  पिन के साथ दर्ज करना हेागा OTP
नई सुविधा के तहत 10000 रुपये या इससे ज्यादा कैश एटीएम से निकालने पर ATM  पिन नंबर के साथ OTP भी जरूरी कर दिया है. एटीम फ्राड को रोकने के लिए देश के कई बैंक एटीम ट्रांजेक्शन के दौरान रजिस्टर्ड फोन नंबर पर ओटीपी नंबर भी जरूरी करने वाले है. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के डिप्टी जनरल मैनेजर सुरेश नायर के मुताबिक स्टेट बैंक भी एटीएम ट्रांजेक्शन पर OTP  जरूरी करने वाला है जिससे एटीएम फ्राड रोकने में मदद मिलेगी.

फ्रॉड की घटनाएं बढ़ने के बाद उठाया यह कदम
इसके अलावा भी कई अन्य बैंक इस प्रक्रिया पर काम कर रहे हैं. ग्राहकों की तरफ से फ्रॉड की घटनाएं बढ़ने की शिकायत किए जाने के बाद बैंकों की तरफ से एटीएम ट्रांजेक्शन के समय पिन के साथ ही ओटीपी की भी सुविधा से धोखाधड़ी पर लगाम लगाई जा सकेगी. इसके बाद आपको पिन के साथ ही मोबाइल पर आने वाला ओटीपी भी एटीएम में दर्ज करना होगा. इसके बाद ही आपका ट्राजेक्शन पूरा हो पाएगा.

आरबीआई ने स्पष्ट रूप से कहा है कि एटीएम फ्रॉड रोकना होगा. एटीएम फ्रॉड रात 11 बजे से सुबह 6 तक ज्यादा होते हैं. गौरतलब है कि इसी महीने भारतीय रिजर्व बैंक ने कहा था कि तकनीकी कारणों, जिनमें हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर, कम्‍युनिकेशन से जुड़ी बाधाएं और एटीएम में कैश का न होना शामिल है, की वजह से ट्रांजेक्‍शन फेल हो जाता है तो उसे वैलिड ट्रांजेक्‍शन नहीं माना जाएगा. 

 

error: Content is protected !!