DIPS के विजय अभियान में जुड़ा एक और पन्ना, DIPS के पूर्व विद्यार्थी व कनाडा में मेंबर ऑफ प्रोविंशियल पार्लियामेंट अमरजोत संधू ने स्कूल को लिखा औपचारिक पत्र, चेयरमैन गुरबचन सिंह और एमडी तरविंदर सिंह का किया धन्यवाद

DIPS के विजय अभियान में जुड़ा एक और पन्ना, DIPS के पूर्व विद्यार्थी व कनाडा में मेंबर ऑफ प्रोविंशियल पार्लियामेंट अमरजोत संधू ने स्कूल को लिखा औपचारिक पत्र, चेयरमैन गुरबचन सिंह और एमडी तरविंदर सिंह का किया धन्यवाद

 

जालंधर (अमन बग्गा): डिप्स के विजय अभियान में एक और पन्ने को जोड़ते हुए ओंटारियों में एमपीपी (मैम्बर प्रोविंशल पार्लयमैंट) के पद पर नियुक्त ढिलवां के पूर्व विद्यार्थी अमरजोत संधू ने एक औपचारिक पत्र द्वारा डिप्स चेन की मैनेजमैंट, उनके चेयरमैन सरदार गुरबचन सिंह तथा एम.डी तरविंदर सिंह का धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि डिप्स ढिलवां के प्रांगण में अपने जीवन के बहुमुल्य आठ साल की प्राप्त शिक्षा ने आज उन्हें इस प्रतिष्ठित पद तक पहुँचने के लिए प्रेरित किया हैं। 

 

 


उन्होंने अपने पसंदीदा तथा अपने क्षेत्र में अग्रसर अध्यापकों मिस नीलम, मिस्टर नीरज, मिस राजविंदर, मिस्टर विक्रम व पूर्व अंग्रकाी अध्यापक व आज की डिप्स चेन की सी.ई.ओ मोनिका मंडोत्रा से शिक्षा ग्रहण की तथा जीवन भर साथ निभाने वाले दोस्त अमनदीप सिंह, हरजोत घुम्मन, जसकरन पन्नु, भुपिन्द्र संधु, अम्मु कौर तथा राजन बल जैसे बनाए।

 

 

अमरजोत ने कहा, उन्हें गर्व है कि डिप्स में बिताया हर पल तथा वहां का हर सबक उनकी तरक्की की सीढ़ी का पायदान बना। अमरजोत ने कहा कि स्कूल के तजुर्बेकार अध्यापकों के संरक्षण में उन्होंने शिक्षा के महत्व को समझा और आज अंतराष्ट्रीय मंच पर बेमिसाल उपलब्धि हासिल की है। 

 

 


उन्होंने डिप्स चेन के चेयरमैन सरदार गुरबचन सिंह का पुन: धन्यवाद करते हुए कहा कि उन्होंने ढिलवां गांव डिस्टिक कपूरथला में एक अंतराष्ट्रीय स्तर के विद्यालय का निमार्ण किय। जिसने गांव के विद्यार्थियों को शिक्षा के क्षेत्र में अग्रसर रहने के उचित तथा स्वर्णिम सुअवसर प्रदान किए।

 

 

अमरजोत ने अपने बारे में बताते हुए कहा कि वह ऐसे पहले अतंराष्ट्रीय विद्यार्थी है जिसने 10 सालों में ब्रैम्पटन वैस्ट से चुनाव जीत कर ओंटारियों से विधानसभा में स्थान प्राप्त किय। उन्होंने कहा कि वह कभी नही भूलेंगे की उनकी इस कामयाबी के बीज ढिलवां में ही रोपित किए गए थे। गांव की मिट्टी से ही अध्यापकों ने उनके हुनर को खोज निकाला था। 

 

 


उन्होंने कहा कि डिप्स ने कभी भी अपने विद्यार्थियों को रूकना नही सिखाया, अपितु सदैव आगे बढऩे की प्रेरणा दी है। इस दौरान डिप्स चेन की सी.ई.ओ मोनिका मंडोत्रा ने सभी विद्यार्थियों को प्रेरित करते हुए कहा कि जीवन में इस प्रकार कामयाबी प्राप्त करें तांकि उनके जाने के बार भी वह शिक्षण संस्थान को गौरानवित करते रहें।

 

 

🗣️शुगर कंट्रोल के लिए रोज लगवाने पड़ते थे 4 टीके. सुनिए कैसे “एकनायकम” जड़ी बूटी से बनी “i-Coffee” ने दिलाया शुगर की भयंकर बीमारी से छुटकारा

◆Video देखने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें👇👇