भिखारी की मौत के बाद घर पहुंची पुलिस के उड़े होश, झोपड़ी में मिले 1.75 लाख के सिक्के, बैंक में 8.77 लाख जमा






मुंबईः मुंबई में एक भिखारी के लखपति होने का अजीबो गरीब मामला सामने आया है। रेलवे पुलिस (जीआरपी) को पटरियों पर एक शव की जानकारी मिली। जब उसकी तफ्तीश की गई तो पता चला कि मरने वाले व्यक्ति का नाम बिरादीचंद पन्नारामजी आजाद था, जो भीख मांगकर अपना गुजारा करता था। पुलिस की जांच के अनुसार बिरारीचंद लखपति था और उसके पास 8.77 लाख रुपये का फिक्स डिपॉजिट (सावधि जमा), 96,000 रुपये खाते में और 1.75 लाख के सिक्के मिले।

Image result for भिखारी से मिले सिक्के

82 साल के इस भिखारी की शुक्रवार को मानखुर्द और गोवंडी स्टेशन के बीच रेलवे ट्रैक पार करने की कोशिश में ट्रेन से कटकर मौत हो गई थी। फिलहाल जीआरपी आजद के बेटे से संपर्क करने में जुटी हुई है जो कि राजस्थान में रहता है। वहीं जीआरपी ने एक्सिडेंट का केस दर्ज कर लिया है।

Image result for भिखारी से मिले सिक्के

वाशी जीआरपी के अनुसार, ‘आगे जांच करने पर हम उसकी झोपड़ी तक पहुंचे। एक पड़ोसी ने हमें बताया कि आजाद अकेला रहता था और उसका कोई रिश्तेदार नहीं है। हमने उसकी झोपड़ी में छानबीन की ताकि उसके परिवार के बारे में कुछ पता चल सके।’ आजाद की झोपड़ी में छानबीन करने वाले वाशी जीआरपी के सब इंस्पेक्टर प्रवीण कांबले ने कहा, ‘हमें वहां चार बड़े डिब्बे और एक गैलन मिला। उसने इनके अंदर एक, दो, पांच और 10 रुपये के सिक्कों को प्लास्टिक की थैलियों में रखा हुआ था। हमने शनिवार शाम से रविवार तक सिक्कों को गिना और यह 1.75 लाख रुपये निकले।’

Image result for भिखारी से मिले सिक्के

कागजात के आधार पर पता चला कि आजाद का जन्म 27 फरवरी 1937 को हुआ था। पिछले कुछ सालों से वो शिवाजी नगर के बैगनवाड़ी में रह रहा था।

error: Content is protected !!