लुधियाना : श्री राम जन्म भूमि मन्दिर की लहर उफान पर, चहुं ओर भगवा यात्राएं, अब भव्य मन्दिर बनने तक विश्राम नहीं – पाली सैहजपाल









लुधियाना : श्री राम जन्म भूमि मन्दिर की लहर उफान पर, चहुं ओर भगवा यात्राएं, अब भव्य मन्दिर बनने तक विश्राम नहीं - पाली सहजपाल

PLN लुधियाना: {अशवनी शर्मा} शहर इन दिनों आजकल श्री राम जन्म भूमि पर मन्दिर बनाने की लहर पूरी तरह उफान पर है। शहर के हर हिस्से में हर रोज “जय श्री राम” “मन्दिर भव्य बनाएंगे” के उदघोष गूंज रहे हैं।

सुप्रीम कोर्ट द्वारा श्री राम जन्म भूमी पर मन्दिर निर्माण सम्बन्धी मामले को 2019 तक टाल दिए जाने कब बाद सारे देश के हिंदुओं में आक्रोश है और शीघ्र श्री राम मंदिर बनाने की मांग बढ़ रही है। इस को ध्यान में रखते हुए श्री राम जन्म भूमि न्यास भी पर पूरी तरह सरगर्म हो चुका है। अतः अब योजना बद्ध तरीके से सारे देश में अभियान चलाया जा रहा है। सारे देश में कहीं सन्ध्या फेरियां तो कहीं प्रभात फेरियां और कही जन जागरूकता यात्राएं निकली जा रही हैं।

इस बारे में जिला मंत्री पाली सहज पाल ने बताया की अयोध्या जी में लाखों जाने गंवाने के बाद भी सालों से हिन्दू समाज आज तक अपने आराध्य भगवान श्री राम लला जी के मन्दिर को तरस रहा है। ये हम हिंदुओं का दुर्भाग्य है की हम बड़े बड़े घरों में रहते हैं और श्री राम लला टेंट में विराजमान हैं। परन्तु अब देश का हिन्दू सरकार से ये पूछ रहा है कि अगर शाहबानो केस में कानून बदला जा सकता है तो हिंदुओं की भावनाओं के लिए श्री राम जन्म भूमि पर मन्दिर बनाने के लिए कानून क्यों नहीं बनाया जा सकता ?

अब हिन्दू सरकार से मांग कर रहे हैं की शीघ्र मन्दिर निर्माण के लिए ठोस कानून बनाया जाए ताकि कानून का आदर करने वाला हिन्दू कानून तोड़ने को विवश ना हो जाए।

बतादें कि लुधियाना शहर के भिन्न भिन्न हिस्सों में अब तक लगभग 180 प्रभात फेरियों,सन्ध्या फेरियों का आयोजन हो चुका है जिन्हें सनातनी समाज से भरपूर समर्थन मिल रहा है।



error: Content is protected !!