दो बार नेट क्लियर कर चुकी छात्रा जेआरएफ का एग्जाम क्लियर नही कर पाई तो लगा लिया फंदा, पिता की हुई थी विमान हादसे में मौत









रोहतक(PLN) एमबीबीएस स्टूडेंट के सुसाइड करने के 4 दिन बाद अब  में एक छात्रा के सुसाइड करने का मामला सामने आया है। 

महाऋषि दयानंद यूनिवर्सिटी के यमुना हॉस्टल मेंझज्जर के तलाव गांव की निवासी राखी एमडीयू में जियोग्राफी में रिमोट सेंसिंग एंड जीआईएस पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा की छात्रा 26 वर्षीय राखी की संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई। पुलिस को छात्रा के कमरे से किसी प्रकार का सुसाइड नोट नहीं मिला है। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवाकर उसे परिजनों के हवाले कर दिया है।

जब छात्रा तीन साल की थी, तब पिता की एक विमान हादसे में मौत हो गई थी। राखी की मौत की खबर सुन कर परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा। राखी केे दो भाई है। एक भाई असिस्टेंट कमांडेंट और एक्साइज डिपार्टमेंट में इंस्पेक्ट है। पिता बिजेंद्र सिंह की वर्ष 1996 में चरखी दादरी के चर्चित विमान हादसे में मौत हो गई थी। वो दुबई की एक कंपनी में नौकरी करते थे।

 उसकी सहेलियों ने बताया कि जेआरएफ की परीक्षा क्लियर नहीं होने की वजह से वह परेशान थी। राखी दो बार नेट क्वालीफाई कर चुकी थी। शुक्रवार को ही वो घर से हॉस्टल में आई थी। रविवार को राखी का एचटेट का पेपर भी था। क्लासमेट के अनुसार शनिवार रात जेआरएफ का रिजल्ट आया था। राखी का एग्जाम क्लियर नहीं हुआ था। इसके बाद से वो तनाव में थी। सुबह उसे फोन भी मिलाया तो उसने नहीं उठाया। बाद में कमरे में झांककर देखा तो वह फंदे पर लटकी मिली। बाद में एमडीयू अधिकारी और पुलिस पहुंचे।

सम्भार भास्कर

error: Content is protected !!