‘अब होगा न्याय’ के नारे के साथ चौधरी संतोख सिंह ने दिया लोगों को मोदी के विरुद्ध वोट डाल कर लोकतंत्र को बचाने का आह्वान, चौधरी ने अकाली-बीजेपी गठजोड़ पर लगाया घृणा की राजनीति करने का आरोप, कहा – पड़ोसी देश के खतरे से ज्यादा खतरनाक है मोदी की घृणा की राजनीति









 

फिल्लौर 5 मई -जालंधर लोक सभा सीट से चुनाव लड़ रहे कांग्रेस उम्मीदवार चौधरी संतोख सिंह ने लोगों से अपील की है कि वे 19 मई को अकाली-बीजेपी गठजोड़ के उम्मीदवारों के विरुद्ध वोट देकर विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र को बचाने का प्रयास करें. उन्होंने कहा कि भगवा पार्टी की घृणायुक्त राजनीति देश के लिए किसी भी पड़ोसी के खतरे से ज्यादा खतरनाक है.

चौधरी संतोख सिंह ने आज पंजाब कांग्रेस के महासचिव और अपने पुत्र चौधरी विक्रमजीत सिंह के साथ फिल्लौर विधानसभा हलके के गाँवों घुड़का, लल्लिया, भारसिंहपुरा और परताबपुरा में कई बड़े जनसमूहों को संबोधित करते हुए कहा कि मोदी ने देश की हरेक संवैधानिक संस्था चाहे वह भारतीय रिजर्व बैंक, सी बी आई, भारतीय सेना हो, का राजनीतिकीकरण कर दिया और यहां तक कि भारतीय चुनाव आयोग को भी नहीं बख्शा जिसे दवाब में आ कर चुनाव संहिता का उललंघन करने वाले बीजेपी के नेताओं के पक्ष में फैसले देने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है. उन्होंने कहा कि मोदी का यह रुझान देश के लिए भारी खतरे की घंटी है.

चौधरी संतोख सिंह ने मोदी से पूछा कि वह देश को यह बताएं कि पिछले पांच वर्षों के अपने शासनकाल में उन्होंने दलितों के कल्याण के लिए कौन सा अच्छा कार्य किया है। उन्होंने दावा किया कि एनडीए के शासनकाल में दलितों पर अत्याचार की घटनाओं में कई गुणा वृद्धि हुई है.

गोराया में अपने चुनाव कार्यालय का उद्घाटन करने के अवसर पर एक भारी जनसमूह को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि चाहे दलितों पर अत्याचारों के मामले हों या फिर कृषि और किसान संकट या फिर बेरोजगारी का मसला हो, मोदी सरकार इन सभी मुद्दों पर पूरी तरह से विफल रही है. मोदी ने केवल बातों और शब्दों की लफ़्फ़ाज़ी से ही लोगों को सपने दिखाए जिस से आज समाज के सभी वर्गों के लोग दुखी और भारी तकलीफ में हैं. मोदी ने लोगों को लाली पाप देने के अलावा और कोई कार्य नहीं किया.

कांग्रेस पार्टी के नारे ‘अब होगा न्याय ‘ का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि सत्ता में आने पर मोदी आरक्षण नीति को समाप्त करने के लिए आर एस एस के गुप्त एजेंडे को लागू करने में कोई संकोच नहीं करेगा । क्योंकि मोदी की सरकार एससी/एसटी एक्ट के मुद्दे पर पहले से ही बेनकाब हो चुकी है. जब एससी/एस टी एक्ट को कमजोर करने का प्रयास किया था मोदी सरकार ने.

उन्होंने कहा कि देश में इस समय गुस्से की जबरदस्त लहर है क्योंकि मोदी सरकार ना तो बेरोजगार युवाओं को नौकरियां दे पाई है और ना ही अन्य मुद्दों का समाधान ढूंढ पाई है. यही मोदी के लिए सबसे बड़ी चुनौती वाले मुद्दे है.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस इन चुनावों में अकाली-बीजेपी गठजोड़ को बुरी तरह से पराजित करेगी और सत्ता में आने पर पार्टी बेरोजगारी और किसानों के मुद्दे राष्ट्र और राज्य स्तर पर हल करेगी. उन्होंने कहा कि इन मुद्दों के समाधान के लिए कांग्रेस 21वीं शताब्दी का तंत्र कायम करेगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस इस बात को जानती है कि वह ऐसा कर सकती है क्योंकि हम लोगों की बात सुनते है जबकि मोदी को लोगों की बात सुनने में कोई दिलचस्पी नहीं है.

चौधरी संतोख सिंह ने कि पूरे देश में बीजेपी विरोधी लहर ने जोर पकड़ना शुरू कर दिया है और 19 मई को पोलिंग के अंतिम दिन पंजाब के लोग मोदी सरकार के कफ़न में आख़िरी कील ठोंकते हुए देश के लिए कांग्रेस सरकार का चुनाव करेंगे.

कांग्रेस के चुनाव घोषणा पत्र का उल्लेख करते हुए चौधरी संतोख सिंह ने पार्टी द्वारा लोगो के साथ घोषणा पत्र में किये गए वादे दोहराये और बताया कि देश के हरेक गरीब परिवार को न्यूनतम आय गारंटी योजना के अंतर्गत हर साल 72 हज़ार रुपये दिए जाएंगे.

उन्होंने इस बात का भी खुलासा किया कि कहा कि कांग्रेस ने देश की कुल जनसंख्या की 75 प्रतिशत एससी /एसटी और ओबीसी आबादी के कल्याण और विकास के लिए एक बेहतर कार्य योजना बनाने का भी वादा किया है. और इस बात का भी भरोसा दिलाया है कि वह सभी को समान अवसर प्रदान करने के लिए एक समान अवसर आयोग बनाएगी जो शिक्षा, रोजगार और आर्थिक क्षेत्र में समानता लाने के लिए रणनीति और नीतियों का निर्माण करेगी. चौधरी संतोख सिंह ने कहा कि सत्ता में आने पर कांग्रेस पार्टी सरकारी, अर्ध सरकारी और सार्वजनिक केंद्रीय संस्थाओं में एससी /एसटी और ओबीसी के उम्मीदवारों के लिए आरक्षित नोकरियोपन के बैकलॉग को एक वर्ष के भीतर भीतर पूरा करेगी। कांग्रेस ने यह भी वादा किया है कि संविधान में संशोधन करके इन वर्गों के लिए प्रोन्नति में भी आरक्षण लागू किया जाए और जनजाति वर्ग के लोगों की शिक्षा और स्वास्थ्य संबंधी आवश्यकताओं पर विशेष ध्यान दिया जाएगा. इस के अलावा पार्टी सत्ता में आने पर निजी उच्चतर शिक्षा संस्थाओ में एससी /एसटी और ओबीसी के उम्मीदवारों के लिए सीटें आरक्षित किये जाने से संबंधित कानून पास करेगी.

इस अवसर पर लोगों को संबोधित करते हुए चौधरी विक्रमजीत सिंह ने कहा कि अकाली दल अपने आप को पंथिक पार्टी कहलाने का नैतिक अधिकार खो चुका है और इसके बाबजूद पंथ के नाम पर वोट मांग रहा है.

बादलों को पंथ के गद्दार करार देते हुए विक्रमजीत ने लोगों से अपील की कि वह इन चुनावों में गुरु ग्रंथ साहिब जी की बेअदबी करने कके मामलों के लिए जिम्मेवार बादलों और अकालियों को मुंहतोड़ जवाब दें.

इस अवसर पर कई कांग्रेस नेता जिनमें हरमेश लाल, गुरप्रीत कौर और पुष्पा देवी (सभी जिला परिषद सदस्य) भी उपस्थित थे. इनके अलावा ब्लॉक प्रधान राकेश दुग्गल तथा नगर परिषद के कौंसलर भी हाज़िर थे।

 



error: Content is protected !!